संजीवनी टुडे

सैयद मोदी बैडमिंटन में हिस्सा नहीं लेंगी विश्व चैंपियन सिंधू, जानिए वजह!

संजीवनी टुडे 08-11-2019 21:58:22

सिंधू ने इस साल अगस्त में विश्व खिताब जीतकर भारत की पहली विश्व बैडमिंटन चैंपियन होने का गौरव हासिल किया था लेकिन उसके बाद के पांच टूर्नामेंटों में उनका प्रदर्शन ख़ासा निराशाजनक रहा है।


लखनऊ। विश्व चैंपियन बनने के बाद से निराशाजनक प्रदर्शन कर रही भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधू उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 26 नवम्बर से शुरू होने वाली सैयद मोदी इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप एचएसबीसी वर्ल्ड टूर 300 में हिस्सा नहीं लेंगी।

यह खबर भी पढ़े: T-20: इंग्लैंड ने कीवियों को घर में किया पस्त, बना डालें ऐसे ऐतिहासिक रिकॉर्ड

बाबू बनारसी दास बैडमिंटन अकादमी में एक दिसम्बर तक खेली जाने वाली चैंपियनशिप के लिये जारी भारतीय महिला खिलाड़ियों की सूची में फिलहाल सिंधू का नाम नदारद है। सिंधू ने इस साल अगस्त में विश्व खिताब जीतकर भारत की पहली विश्व बैडमिंटन चैंपियन होने का गौरव हासिल किया था लेकिन उसके बाद के पांच टूर्नामेंटों में उनका प्रदर्शन ख़ासा निराशाजनक रहा है।

सिंधू चाइनाओपन, कोरिया ओपन, डेनमार्क ओपन, फ्रेंच ओपन और चाइना ओपन में केवल फ्रेंच ओपन में क्वार्टरफाइनल तक पहुंच पायीं जबकि अन्य टूर्नामेंटों में वह पहले और दूसरे दौर में बाहर हो गयीं। इस समय चल रहे चाइना ओपन में वह पहले दौर में ही बाहर हो गयी थीं।

महिला एकल वर्ग में हालांकि सायना नेहवाल के अलावा मुग्धा अगरे अपना जलवा दिखायेंगी। सायना भी चाइना ओपन में पहले दौर में बाहर हो गयी थीं। इवेंट में चीन, कोरिया, डेनमार्क, इजरायल, हांगकांग, स्पेन, बुल्गारिया,म्यांमार , थाइलैंड,रूस, चीनी ताइपे, आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, बेल्जियम और कनाडा के स्टार शटलर हिस्सा लेंगे।

यह खबर भी पढ़ेAus vPak: वॉर्नर और फिंच के तूफान में उड़ा पाकिस्तान, कंगारुओं ने सीरीज पर किया कब्जा

पिछले महीने केरल में सिंधू ने कहा था कि उनका लक्ष्य ओलंपिक स्वर्ण जीतना है जिसके लिये उन्हें और मेहनत करनी होगी। भारत की पहली महिला विश्व चैंपियन का खिताब हासिल करने वाली सिंधू रियो ओलंपिक 2016 में स्पेन की कैरोलिना मारिन से खिताबी मुकाबला हार गई थी।

चैंपियनशिप के पुरूष एकल में किदाम्बी श्रीकांत,परूपल्ली कश्यप, बी साई प्रणीत , एच एस प्रणय और समीर वर्मा समेत अन्य भारतीय खिलाडी हिस्सा लेंगे जिनका मुकाबला चीन के सी यू की, ली सिन फेंग जैसे चीनी दिग्गजों से होगा। इसके अलावा एकल वर्ग का खिताब हासिल करने के लिये फ्रांस, कनाडा, कोरिया, हांगकांग, मलेशिया, चीनी ताइपे, थाइलैंड, इजरायल, रूस एड़ी चोटी का जोर लगायेंगे।

महिला युगल वर्ग में अश्वनी पोनप्पा और एन रेड्डी सिक्की की जोड़ी एक बार फिर धमाल मचाने काे तैयार है जहां उन्हे हमवतन खिलाडियों के अलावा चीन, हांगकांग, कोरिया, रूस, इंग्लैंड, फ्रांस, अमेरिका, जर्मनी और थाईलैंड की चुनौतियों से पार पाना होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended