संजीवनी टुडे

विवादास्पद ट्रायल में सुशील ने जीता विश्व चैंपियनशिप का टिकट

संजीवनी टुडे 20-08-2019 15:53:25

पहलवान सुशील कुमार ने विश्व कुश्ती प्रतियोगिता के लिए मंगलवार को यहां आईजी स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स के केडी जाधव कुश्ती स्टेडियम में आयोजित 74 किग्रा वर्ग का ट्रायल जीत लिया लेकिन इस ट्रायल पर आखिर में विवाद की छाया पड़ गयी।


नई दिल्ली। दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार ने विश्व कुश्ती प्रतियोगिता के लिए मंगलवार को यहां आईजी स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स के केडी जाधव कुश्ती स्टेडियम में आयोजित 74 किग्रा वर्ग का ट्रायल जीत लिया लेकिन इस ट्रायल पर आखिर में विवाद की छाया पड़ गयी। 

यह खबर भी पढ़ेभारत में दाखिल हुए PaK खुफिया एजेंसी ISI एजेंट के साथ 4 आतंकी, देशभर में हाई अलर्ट जारी

सुशील ने 14 से 22 सितंबर तक कजाखस्तान में होने वाली विश्व चैम्पियनशिप के लिए क्वालीफाई कर लिया है जो 2020 के टोक्यो ओलंपिक के लिए पहला क्वालीफाइंग टूर्नामेंट है। विश्व चैंपियनशिप में प्रत्येक वजन वर्ग में शीर्ष छह पहलवान अपने देश को टोक्यो ओलंपिक का कोटा दिलाएंगे।

वर्ष 2008 के बीजिंग ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता, 2012 लंदन ओलंपिक के रजत विजेता और 2010 में विश्व चैंपियन रह चुके सुशील के 74 किग्रा वजन वर्ग का ट्रायल पिछले महीने 26 जुलाई को होना था लेकिन उनके दो प्रतिद्वंद्वी पहलवानों के अनफिट होने के कारण इस ट्रायल को स्थगित कर दिया गया था। 

यह ट्रायल आज आजोयित हुआ जिसमें सुशील ने बेहद कड़े मुकाबले में हरियाणा के जितेंद्र को 4-2 से हराकर विश्व चैंपियनशिप का टिकट हासिल कर लिया। सुशील ने पहले ही राउंड में 4-0 की बढ़त बना ली थी लेकिन दूसरे राउंड में मुकाबला काफी कड़ा रहा। 

सुशील ने 4-2 से यह मुकाबला जीता। यह मुकाबला हारने के बाद जितेंद्र काफी हताश नजर आए जबकि उनके कोच जयवीर ने आरोप लगाया कि रेफरी ने मुकाबले के दौरान फाउल को नजरअंदाज किया। दरअसल दूसरा राउंड शुरु होते ही जितेंद्र की आंख में चोट लग गयी थी जिससे उन्होंने मेडिकल टाइम आउट लिया। 

दूसरे राउंड में जितेंद्र की कोहनी में दो बार चोट लगी जबकि सुशील की नाक से दो बार खून भी निकला। जितेंद्र के कोच ने आरोप लगाया कि सुशील जानबूझकर मेडिकल टाइम आउट ले रहे थे ताकि वह खुद को ताजा रख सके। 

हालांकि सुशील ने मुकाबले के बाद संवाददाताओं से कहा, “कुश्ती के मुकाबलों में ऐसा कई बार हो जाता है कि आपको चोट लग जाती है। कोई भी पहलवान जानबूझकर ऐसा नहीं करता है। जितेंद्र अच्छा पहलवान है और वह मेरे छोटे भाई की तरह है। मैं अभी उसे बधाई देकर आया हूं कि उसने काफी अच्छा मुकाबला लड़ा और उसमें भविष्य के लिए काफी संभावनाएं हैं।”

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended