संजीवनी टुडे

तो क्या अब भारत में सिक्का उछाल कर नहीं होगा टॉस? क्रिकेट के नियमों में और भी बदलाव संभव

संजीवनी टुडे 18-05-2019 10:42:19


डेस्क। क्रिकेट को और रोमांचक बनाने के उद्देश्य से बीसीसीआई समय समय पर कई नियमों में बदलाव करता रहता है। शुक्रवार को मुंबई में बीसीसीआई द्वारा रखे गए एक सम्मलेन में क्रिकेट कई नियमों में बदलाव के लिए सुझाव आये है। यह सम्मेलन घरेलू टीमों के कप्तानों और कोच के लिए रखा गया था। 

अब भारत में सिक्का उछाल कर नहीं होगा टॉस, क्रिकेट के नियमों में और भी बदलाव संभव

सम्मेलन में टॉस के समय सिक्का उछालने का प्रचलन भी समाप्त करने और मेहमान टीम को बल्लेबाजी या गेंदबाजी का फैसला करने की छूट देने की मांग भी की गयी। कप्तानों और कोच ने दलीप ट्रॉफी और ईरानी ट्रॉफी की प्रासंगिकता पर भी बात की। पिछले साल 2018 में टेस्ट मैचों से टॉस खत्म करने की बात चल रही थी। इस पर आईसीसी के एक अधिकारी ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट से मूल रूप से जुड़े टॉस को खत्म किया जा सकता है। 

अब भारत में सिक्का उछाल कर नहीं होगा टॉस, क्रिकेट के नियमों में और भी बदलाव संभव

आईसीसी की क्रिकेट समिति इस पर चर्चा करने के लिए तैयार भी थी कि क्या मैच से पहले सिक्का उछालने की परंपरा खत्म की जाए, जिससे कि टेस्ट चैंपियनशिप में घरेलू मैदानों से मिलने वाले फायदे को कम किया जा सके। टॉस के आलोचकों का मानना है कि इस परंपरा के कारण मेजबान टीमों को गलत फायदा पहुंचता है।

अब भारत में सिक्का उछाल कर नहीं होगा टॉस, क्रिकेट के नियमों में और भी बदलाव संभव

इसके अलावा सम्मेलन में रणजी ट्रॉफी में डीआरएस यानि डिसिजन रिव्यू सिस्टम लागू करना और सिक्का उछाल कर टॉस करने का प्रचलन समाप्त करना कुछ ऐसे सुझाव रखे गए। सम्मेलन के दौरान कप्तानों और कोच ने टेलीविजन पर प्रसारित होने वाले रणजी ट्रॉफी मैचों के लिये उपलब्ध तकनीक पर डीआरएस लागू करने की अपील की। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल 

 

अभी तक डीआरएस को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट तक सीमित रखा गया है लेकिन पिछले रणजी सीजन में अंपायरों के कई गलत फैसलों के बाद इसे घरेलू स्तर पर लागू करने की मांग उठ रही है। पिछले सीजन में सौराष्ट्र और कर्नाटक के बीच रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल अंपायरों की गलती के कारण चर्चा में रहा था।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From sports

Trending Now
Recommended