संजीवनी टुडे

स्मृति मंधाना का BCCI पर निशाना, कहा- पुरुष क्रिकेट से होती है कमाई, इसलिए महिलाओं को...

संजीवनी टुडे 22-01-2020 22:18:20

आईसीसी की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर मंधाना ने बुधवार को एक प्रचार कार्यक्रम के दौरान समान वेतन के विवादास्पद मुद्दे पर बात की। उन्होंने कहा कि उन्हें पुरुष खिलाड़ियों के मुकाबले कम सैलरी मिलने से कोई परेशानी नहीं, उन्होंने एक इवेंट के दौरान ऐसा कहा।


नई दिल्ली। भारत की स्टार महिला क्रिकेटर स्मृति मंधाना अपने पुरुष समकक्षों की तुलना में कम वेतन से परेशान नहीं हैं क्योंकि वह समझती हैं कि इस खेल के इस राजस्व पुरुष क्रिकेट के जरिए आता है। बता दे, बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंध के शीर्ष वर्ग में शामिल पुरुष क्रिकेटरों को वार्षिक वेतन के तौर पर 7 करोड़ रुपये मिलते हैं। जबकि शीर्ष वर्ग की महिला क्रिकेटरों को वार्षिक अधिकतम 50 लाख रुपये का भुगतान किया जाता है। 

यह भी पढ़े: न्यूजीलैंड-अफ्रीका दौरा विराट सेना के लिए वर्ल्ड कप की तैयारी जैसा: रवि शास्त्री

दरअसल, आईसीसी की साल की सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर मंधाना ने बुधवार को एक प्रचार कार्यक्रम के दौरान समान वेतन के विवादास्पद मुद्दे पर बात की। उन्होंने कहा कि उन्हें पुरुष खिलाड़ियों के मुकाबले कम सैलरी मिलने से कोई परेशानी नहीं, उन्होंने एक इवेंट के दौरान ऐसा कहा। मंधाना ने कहा, वह समझती हैं कि महिला खिलाड़ियों की जो कमाई होती है, वह पैसा पुरुष क्रिकेट से ही आता है। जिस दिन महिला क्रिकेट अपने बूते कमाई करने लग जाएगा, मैं सबसे पहले समान सैलरी की बात कहूंगी। 

Big news Rohit and Mandhana became the best cricketer of the year Ganguly presented the award to the Indian Test team

बता दे, बीसीसीआई सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट की सबसे ऊंची श्रेणी (ए+) में आने वाले पुरुष क्रिकेटरों को अनुबंध के तौर पर साल के 7 करोड़ रुपए देता है। इसमें विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह और रोहित शर्मा शामिल हैं। वहीं, इस श्रेणी में आने वाली महिला क्रिकेटर को सैलरी के रूप में सालाना 50 लाख रुपए मिलते हैं। स्मृति मंधाना भी इसी श्रेणी में आती हैं। उनके अलावा हरमनप्रीत कौर और पूनम यादव शामिल हैं। 

Team Indias opener becomes ICC Womens ODI and T20 Team of the Year

 उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि टीम की कोई साथी इस अंतर के बारे में सोचती है क्योंकि फिलहाल हमारा ध्यान सिर्फ भारत के लिए मैच जीतने, दर्शकों को मैदान पर लाने, राजस्व जुटाने पर है। हमारा लक्ष्य यही है और अगर ऐसा होता है तो सभी अन्य चीजें ठीक हो जाएंगी।’ मंधाना ने कहा, ‘इसके लिए हमें प्रदर्शन करना होगा, हमारी तरफ से यह कहना अनुचित होगा कि हमें समान वेतन की जरूरत है, यह सही नहीं है। इसलिए मुझे नहीं लगता कि मैं इस अंतर पर प्रतिक्रिया देना चाहती हूं।’

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended