संजीवनी टुडे

सचिन तेंदुलकर ने बताया दुनिया का ‘रिवर्स’ रिवर्स स्विंग गेंदबाज, कहा- कोई नहीं करता ऐसा

संजीवनी टुडे 10-07-2020 20:14:18

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने का कारनामा किया है।


नई दिल्ली। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 100 शतक लगाने का कारनामा किया है। सचिन ने ग्लेन मैक्ग्रा, शेन वॉर्न, वसीम अकरम, मुथैया मुरलीधरन जैसे महान गेंदबाजों का सामना किया, लेकिन तेंदुलकर का मानना है कि जेम्स एंडरसन एकमात्र गेंदबाज हैं जो ‘रिवर्स आउटस्विंगर’ डाल सकता हैं, जिसमें उनकी कलाई की स्थिति पारंपरिक इनस्विंगर जैसी होती है।

दरअसल, सचिन ने एक बड़ा खुलासा किया है, उन्होंने कहा- क्रिकेट की दुनिया में पहली बार ऐसा गेंदबाज देखा है जो रिवर्स स्विंग को भी रिवर्स करता है। ये गेंदबाज कोई और नहीं बल्कि इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले जेम्स एंडरसन हैं, जिनकी सचिन ने जमकर तारीफ की है। तेंदुलकर ने इसे ‘रिवर्स’ रिवर्स स्विंग नाम दिया।

Can extend my career by two more years due to Corona break James Anderson

वेस्टइंडीज के दिग्गज ब्रायन लारा के साथ अपने 100 एमबी ऐप पर तेंदुलकर ने बताया कि वेस्टइंडीज के खिलाफ एजिस बाउल में चल रहे पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में एंडरसन इंग्लैंड के लिये क्यों जरूरी है। तेंदुलकर ने लारा से कहा, 'रिवर्स स्विंग के मामले में जिम्मी एंडरसन शायद पहला गेंदबाज है जो रिवर्स स्विंग को भी रिवर्स करता है।' अगर आसान शब्दों में कहें तो दायें हाथ के बल्लेबाज के लिये पारंपरिक स्विंग में गेंद का चमकदार हिस्सा बाहर की तरफ और खुरदुरा हिस्सा अंदर की तरफ होता है।

sachin

उन्होंने कहा, रिवर्स आउटस्विंगर के मामले में गेंद का मूवमेंट बदल जाता है मतलब वह दायें हाथ के बल्लेबाज के लिये बाहर की तरफ निकलती है लेकिन चमकदार हिस्सा बाहर की तरफ ही रहता है लेकिन दोनों मामलों में कलाई की स्थिति अलग होती है।  उन्होंने कहा, ‘अधिकतर बल्लेबाज कलाई की स्थिति पर गौर करते हैं और वह असल में क्या करते हैं। वह आपको दिखाएंगे कि इनस्विंगर कर रहे हैं, लेकिन गेंद के दोनों हिस्सों के बीच असंतुलन से वह बाहर की तरफ निकलेगी।’

sachin

तेंदुलकर ने कहा कि अपनी कलाई की स्थिति में तेजी से बदलाव करके एंडरसन बल्लेबाज को शॉट मारने के लिए मजबूर कर देते हैं। उन्होंने कहा, ‘वह जो करते हैं, वह आपको इनस्विंगर खेलने के लिए तैयार करते हैं और गेंद जब आधी पिच से ज्यादा पार कर लेती है, तब वह आपसे बाहर की तरफ निकलना शुरू कर देती है। लेकिन आप तो शॉट खेलने के लिए तैयार हो क्योंकि आपने इनस्विंग की स्थिति देखी है और यह मेरे लिए नया था, कोई ऐसा नहीं करता है।’

यह खबर भी पढ़े: विश्व कप 2019 यादें : आज ही के दिन टूटी थी हिंदुस्तान को उम्मीद

यह खबर भी पढ़े: आईसीसी और बीसीसीआई ने ट्वीट कर दी लिटिल मास्टर को जन्मदिन की बधाई

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From sports

Trending Now
Recommended