संजीवनी टुडे

मोहम्मद कैफ ने खोला बड़ा राज, बताया क्यों एमएस धोनी की कप्तानी में नहीं हुई टीम में वापसी

संजीवनी टुडे 26-05-2020 15:13:21

धोनी ने जब अपना इंटरनैशनल करियर शुरू किया था, उस समय कैफ अपने करियर के बेस्ट दौर में थे।


डेस्क। हाल ही में टीम इंडिया के सबसे फुर्तीले फील्डर माने जाने वाले मोहम्मद कैफ ने एक लाइव चैट के दौरान बताया कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को बिरयानी न खिलाना उन्हें काफी महंगा पड़ा जिसके कारण वह टीम से ही बाहर हो गए और फिर कभी टीम में शामिल नहीं हो पाए। 

Mohammad Kaif

स्पोर्ट्सस्क्रीन से लाइव चैट के दौरान कैफ ने एक बार का किस्सा सुनाया, जब उन्होंने टीम इंडिया को अपने घर खाने पर बुलाया था और उस समय सीनियर खिलाड़ियों पर ध्यान देने के चक्कर में वो धोनी और सुरेश रैना जैसे जूनियर खिलाड़ियों को अच्छे से अटेंड नहीं कर सके थे।

Mohammad Kaif

कैफ ने कहा, '2006 में नोएडा में मैंने सभी भारतीय क्रिकेटरों को अपने घर पर खाने के लिए बुलाया था। ग्रेग चैपल, सौरव गांगुली जैसे बड़े क्रिकेटर्स को मैंने बुलाया था और मैं इस बात को लेकर नर्वस था कि मैं इन लोगों को किस तरह से अटेंड करूंगा। मैं उस समय तेंदुलकर, गांगुली जैसे बड़े खिलाड़ियों की मेहमाननवाजी में लगा हुआ था।'

Mohammad Kaif

कैफ ने कहा, 'धोनी, रैना और बाकी जूनियर खिलाड़ी अलग कमरे में थे। सचिन, गांगुली जैसे सीनियर खिलाड़ी अलग कमरे में बैठे थे। मैं ज्यादातर समय सीनियर खिलाड़ियों के साथ बैठा था। जूनियर खिलाड़ियों पर मैं ज्यादा ध्यान नहीं दे सका था।'

Mohammad Kaif

कैफ ने कहा, 'एमएस (धोनी) को शायद अच्छा नहीं लगा था कि मैं उन पर ज्यादा ध्यान नहीं दे सका था, यही कारण था कि 2007 में धोनी जब कप्तान बने तो मैं टीम में वापसी नहीं कर सका (मजाकिया अंदाज में), वो हमेशा मुझे याद दिलाते रहते हैं कि जब वो घर आए थे तो मैंने उनका अच्छे से ध्यान नहीं रखा था।'

Mohammad Kaif

बता दें कि धोनी ने जब अपना इंटरनैशनल करियर शुरू किया था, उस समय कैफ अपने करियर के बेस्ट दौर में थे। धोनी के साथ कैफ एक-दो साल ही खेल सके और इसके बाद वो टीम में वापसी नहीं कर सके। कैफ ने टीम इंडिया के लिए आखिरी इंटरनैशनल मैच 2006 में खेला था और 2018 में उन्होंने क्रिकेट को अलविदा कहा था। 

यह खबर भी पढ़े: COVID-19 संकट के बीच राहुल गांधी में मोदी सरकार पर कसा तंज, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह से फेल रहा, आगे क्या? सीतारमण को भी घेरा

यह खबर भी पढ़े: Bihar board 10th result 2020: बोर्ड मैट्रिक के नतीजे घोषित, 81 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास, ऐसे चैक करें रिजल्ट

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From sports

Trending Now
Recommended