संजीवनी टुडे

खिलाड़ियों को हर सुविधा देगी सरकार: रिजिजू

संजीवनी टुडे 19-06-2019 21:26:08

युवा मामले और खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरण रिजीजू ने कहा कि सरकार खिलाड़ियों व खेलों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले तथा ओलंपिक पदक जीतने की क्षमता रखने वाले सभी खिलाड़ियों को हर प्रकार की सहायता देगी


नई दिल्ली। युवा मामले और खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) किरण रिजीजू ने कहा कि सरकार खिलाड़ियों व खेलों में अच्छा प्रदर्शन करने वाले तथा ओलंपिक पदक जीतने की क्षमता रखने वाले सभी खिलाड़ियों को हर प्रकार की सहायता देगी।

 भारतीय खेल प्राधिकरण के मुख्यालय में बुधवार को र्टोजेनबोश में आयोजित विश्व तीरंदाजी चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन के लिए भारतीय तीरंदाजों के दल को सम्मानित करते हुए कहा कि देश के खिलाड़ियों की हर सुविधा का ध्यान रखा जाएगा। तरुणदीप राय, अतनु दास और प्रवीण जाधव की तिकड़ी ने पुरुषों की रिकर्व टीम स्पर्धा में रजत पदक जीतने के साथ 2020 ओलिंपिक के लिए कोटा भी हासिल किया। महिलाओं के वर्ग में ज्योति सुरेखा वेनम के शानदार खेल के दम पर भारत ने महिला कंपाउंड तीरंदाजी टीम ने कांस्य पदक हासिल किया। इस टीम में मुस्कान किरार और राज कौर दो अन्य सदस्य थे।

रिरजू ने इस दौरान तीरंदाजों से मुलाकात करते हुए उन्हें टोक्यो 2020 का ओलंपिक कोटा और इस चैम्पियनशिप में तीन पदक जीतने के लिए बधाई दी। उन्होंने एथलीट को भरोसा दिलाया कि वो जो भी सहायता मागेंगे सरकार उन्हें उपलब्ध कराएगी, चाहे वह कोचिंग हो या तकनीकी सुविधाएं हो।

उन्होंने कहा कि भारत पारंपरिक रूप से तीरंदाजी में बहुत मजबूत रहा है। अगर हम इस खेल में ओलंपिक स्वर्ण जीतेंगे, तभी हम इस बात को सच साबित कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि तीरंदाज अतनु दास ने 2008 में अपनी अंतरराष्ट्रीय शुरुआत की और उनकी वर्तमान विश्व रैंकिंग 22 है। तरुण दीप राय ने 19 साल की उम्र में एक तीरंदाज के रूप में 2003 में अपना करियर शुरू किया था। 

 वे भी 2005 में विश्व तीरंदाजी चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वाली भारतीय पुरुष रिकर्व टीम का हिस्सा थे। प्रवीण जाधव ने एथलेटिक्स में अपना करियर शुरू किया। एक वर्ष के लिए उन्होंने पेशेवर तीरंदाजी की, जिसमें उनका प्रदर्शन उत्कृष्ट रहा। वे एक दिहाड़ी मजदूर के पुत्र हैं। मंत्री ने कहा कि तीरंदाजी के उपकरण बहुत महंगे हैं, वह सरकारी योजनाओं से प्राप्त सहायता के कारण ही खेलों में आगे बढ़ने में सक्षम रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended