संजीवनी टुडे

सौतेले भाई-बहन की हत्या की रिपोर्ट पर भड़के बेन स्टोक्स, अखबार को लगाई फटकार

संजीवनी टुडे 19-09-2019 01:02:00

स्टोक्स ने भावुक होकर द सन को फटकार लगाते हुए ट्विटर पर बयान पोस्ट किया।


डेस्क। परिवार की जिंदगी का सबसे दर्दनाक सच उजागर होने के बाद भावुक हुए क्रिकेट विश्व कप और एशेज में इंग्लैंड की जीत के हीरो बेन स्टोक्स ने यूनाइटेड किंगडम के अखबार ‘द सन’ की उस रिपोर्ट को शर्मनाक और घटिया पत्रकारिता करार दिया, जिसमें कहा गया कि उनके सौतेले भाई और बहन की हत्या खुद उनके पिता ने की थी। 

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तान में हिन्दुस्तानी छात्र की मौत मामले में पाकिस्तानी क्रिकेटर ने भी मांगा इंसाफ

अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए मंगलवार को बेन के भावुक पत्र के बाद सोशल मीडिया पर उनके समर्थन में लोगों ने मोर्चा खोला और टेबलॉयड के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

स्टोक्स ने भावुक होकर ‘द सन’ को फटकार लगाते हुए ट्विटर पर बयान पोस्ट किया। उन्होंने कहा, तीन दशक पहले हुए उस हादसे को भूलने में मेरे परिवार को कई साल लग गए। लेकिन आपने रिपोर्टर को न्यूजीलैंड में मेरे घर भेज उसे कुरेदने का काम किया है। मेरी निजता के साथ मेरे माता-पिता के निजी जीवन पर भी हमला किया है। मुझे लेकर खबरें प्रकाशित की जा सकती हैं, ऐतराज नहीं। लेकिन मेरे माता-पिता, पत्नी और मेरे बच्चों की निजता पर हमला किया जाए! यह पत्रकारिता का सबसे खराब रूप है।

बता दें कि बेन स्टोक्स के परिवार के भयावह अतीत पर इंग्लैंड के मशहूर टेबलॉयड ने विस्तृत रिपोर्ट दी। रिपोर्ट में कहा गया कि बेन स्टोक्स की मां डेब के पहली शादी से दो बच्चे थे, लेकिन 1988 में उनके जन्म से पहले उनके सौतेले भाई, चार साल के एंड्रयू और आठ वर्षीय बहन ट्रेसी की उनके पिता ने हत्या कर दी थी। बाद में स्टोक्स की मां डेब ने रग्बी कोच गेरार्ड स्टोक्स से शादी की। घटना के तीन साल बाद स्टोक्स का जन्म 1991 में हुआ।

यह खबर भी पढ़े: Ind vs SA, 2nd T20: मैच से पहले हरभजन सिंह ने शिखर धवन को लेकर दिया बड़ा बयान

रिपोर्ट के मुताबिक स्टोक्स की मां डेब का पहले पति रिचर्ड डन से तलाक हो गया था। लेकिन जब रिचर्ड को पता चला कि डेब रग्बी कोच गेरार्ड स्टोक्स के साथ रिश्ते में हैं तो वह आपा खो बैठे। सप्ताह के अंत में दोनों बच्चे रिचर्ड के पास क्राइस्टचर्च स्थित घर गए हुए थे। तनाव में डन ने ट्रेसी और एंड्रयू को गोली मार दी और खुद भी आत्महत्या कर ली। रिचर्ड उस वक्त बेरोजगार थे। इससे पहले उन्होंने घर को आग के हवाले कर दिया था। इस घटना से डेब को गहरा आघात लगा। इससे उबरने में उन्हें काफी वक्त लगा।

अखबार ने रिचर्ड की 49 वर्षीय बेटी जैकी डन के हवाले से रिपोर्ट की। जैकी ने कहा, मैं उस वक्त 18 साल की थी। मैं हैरान थी कि मेरे पिता ने उन दोनों मासूम बच्चों की हत्या कर दी थी। इसकी याद भी भयावह है। टेबलॉयड ने न्यूजीलैंड के अखबार की लीड खबरों के फोटो भी प्रकाशित किए।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

 

More From sports

Trending Now
Recommended