संजीवनी टुडे

ऑलराउंडर शिवम ने कहा- पांड्या की जगह लेने नहीं खुद को साबित करने आया हूं

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 05-12-2019 05:26:00

भारतीय ऑलराउंडर शिवम दुबे आक्रामक खिलाड़ी की छवि रखते हैं और उन्हें ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है लेकिन इस युवा खिलाड़ी का मानना है कि वह हार्दिक की जगह लेने नहीं आए हैं बल्कि उन्हें खुद को साबित करना है।


हैदराबाद। भारतीय ऑलराउंडर शिवम दुबे आक्रामक खिलाड़ी की छवि रखते हैं और उन्हें ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है लेकिन इस युवा खिलाड़ी का मानना है कि वह हार्दिक की जगह लेने नहीं आए हैं बल्कि उन्हें खुद को साबित करना है।

यह खबर भी पढ़ें:​ ​कमांडो-3 में पहलवानों पर आपत्तिजनक दृश्य के खिलाफ उठा कुश्ती जगत, किया कड़ा विरोध

भारत के लिए तीन ट्वंटी-20 मैच खेल चुके 26 वर्षीय शिवम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ छह दिसंबर को हैदराबाद में होने वाले पहले टी-20 मुकाबले से पूर्व बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में हार्दिक को लेकर किए गए पहले ही सवाल पर स्पष्ट कर दिया कि उनका लक्ष्य हार्दिक की जगह लेना नहीं बल्कि वह उन्हें मिले मौैकों को भुनाना चाहेंगे।

उन्होंने कहा, “भारत की तरफ से खेलना मेरे लिए बड़े सम्मान की बात है और मैं मौका मिलने पर खुद को साबित करना चाहूंगा।” मुंबई के ऑलराउंडर शिवम ने अपने तीनों टी-20 बंगलादेश के खिलाफ हाल की सीरीज में खेले थे और इस दौरान उन्होंने 30 रन पर तीन विकेट लेने का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया था। हालांकि बल्ले से उनका प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं रहा।

हार्दिक अपनी पीठ की चोट के कारण एक महीने से अधिक समय से टीम से बाहर हैं और इंग्लैंड में सर्जरी कराने के बाद वह रिहैबिलिटेशन से गुजर रहे हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ पहला टी-20 शुक्रवार को होना है।

संवाददाता सम्मेलन में शिवम से पहला सवाल यही पूछा गया कि क्या वह टीम में हार्दिक की जगह लेना चाहते हैं, उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि यह हार्दिक की जगह लेने का मौका है बल्कि मेरा यह मानना है कि मुझे एक मौका मिला है और मुझे अपने देश के लिए अच्छा प्रदर्शन करना है। मैं अपना सर्वश्रेष्ठ करने की पूरी कोशिश करुंगा।”

शिवम ने कहा कि उन्हें कप्तान विराट कोहली और टीम प्रबंधन का पूरा समर्थन है और हर कोई उनका मनोबल बढ़ाता है। उन्होंने कहा कि इससे उन्हें काफी आत्मविश्वास मिलता है और वह खुद को ड्रेसिंग रुम में सहज महसूस करते हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि एक अॉलराउंडर के तौर पर वह अपने फिटनेस स्तर को काफी महत्व देते हैं क्योंकि ऑलराउंडर को बल्ले और गेंद दोनों से अपनी भूमिका निभानी होती है।

ऑलराउंडर ने वेस्टइंडीज को एक अच्छी टी-20 टीम बताया लेकिन साथ ही कहा कि भारतीय टीम यह सीरीज जीतने में कामयाब रहेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From sports

Trending Now
Recommended