संजीवनी टुडे

पहली महिला मैच रेफरी बनने के बाद जीएस लक्ष्मी ने दिया बड़ा बयान, कही ऐसी बात

संजीवनी टुडे 15-05-2019 21:26:32


नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने भारत की जीएस लक्ष्मी को मैच रेफरी के इंटरनेशनल पैनल में जगह दी है। क्रिकेट के इतिहास में ऐसा पहली बार है जब कोई महिला मैच रेफरी बनी है। 

आइसीसी ने मंगलवार को जीएस लक्ष्मी को मैच रेफरीज के ICC इंटरनेशनल पैनल में शामिल किया है। 51 वर्षीय जीएस लक्ष्मी भी महिला अंपायर क्लेयर पोलोसेक की तरह मैन्स क्रिकेट में नज़र आएंगी। 

आईसीसी की तरफ से बताया गया कि लक्ष्मी तत्काल प्रभाव से अंतरराष्ट्रीय मैचों में रेफरी की भूमिका निभाने के योग्य हो गई हैं। इस महीने की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया की क्लेयर पोलोसेक पुरुषों के मैच में अंपायरिंग करने वाली पहली महिला बनी थी। इसी कड़ी में जल्द ही लक्ष्मी पुरुषों के मैच में रेफरी की भूमिका निभाने वाली पहली महिला बन सकती है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

इस सम्मान को पाने के बाद जीएस लक्ष्मी ने कहा है, "आइसीसी के इंटरनेशनल पैनल में शामिल किया जाना मेरे लिए सम्मान की बात है। मैंने बतौर भारतीय क्रिकेटर और मैच रेफरी काफी समय बिताया है। मैं अपने इसी अनुभव को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भुनाउंगी। मैं इस अवसर के लिए आइसीसी, बीसीसीआइ, अपने सीनियर, परिवारीजनों और सहकर्मियों को धन्यवाद कहना चाहती हूं, जिन्होंने मेरा सपोर्ट किया।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

बता दें कि मूल रूप से आंध्र प्रदेश की रहने वाली 51 साल की लक्ष्मी ने इससे पहले घरेलू महिला क्रिकेट में साल 2008 और 2009 में आधिकारिक रूप से काम किया था। इसके अलावा जीएस लक्ष्मी तीन महिला वनडे इंटरनेशनल मैच और तीन वुमेन टी20 इंटरनेशल मैचों में मैच रेफरी रह चुकी हैं।

More From sports

Trending Now
Recommended