संजीवनी टुडे

आबिदा के जज्बे को दुनिया कर रही है सलाम, कभी बैंक ने किया था परेशान, अब 9 करोड़ का टर्नओवर

संजीवनी टुडे 13-03-2019 22:48:33


झुंझुनू। कहते हैं जब मेहनत से कुछ करने का जोश और जुनून हो तो कठिन से कठिन मंजिल को भी हासिल किया जा सकता है। ऐसी ही हिम्मत दिखाई है झुंझुनू शहर के वार्ड नंबर 44 निवासी आबिदा कुरैशी ने।

महिला एवं बाल विकास में बतौर कार्यकर्ता कार्यरत आबिदा जब 2015 में केंद्रीय बैंक में रुपए जमा कराने गई तो उन्हें तीन बजे तक का इंतजार कराया गया। यही नहीं उसके बाद भी कई प्रकार के पहचान पत्र मांगकर परेशान किया गया। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

ऐसे में आबिदा के मन में यह ख्याल आया कि अगर बैंक में एक कार्यकर्ता का इतना वक्त खराब किया जाता है तो ऐसे हजारों कार्यकर्ता हैं जिनका कितना समय खराब होता होगा। आबिदा ने वक्त के तकाजे और महिलाओं की परेशानियों को भांपते हुए ठान लिया कि इसका कुछ हल निकाला जाए।

फिर क्या था अधिकारियों व महिलाओं से बातचीत कर महिलाओं का अपना बैंक खोलने की ठान ली। इसी जोश, जुनून और मेहनत के चलते 22 मई 2015 को एक बैंक (अमृता बहुउद्दशीय प्राथमिक सोसायटी) के नाम से खोल लिया। जिसका आज नौ करोड़ रुपए का वार्षिक लेन-देन है और इसकी चारों तरफ प्रशंसा के पुल बांधे जा रहे हैं।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

वर्तमान में इस अमृता बहुददेशीय प्राथमिक सोसायटी से 23 हजार समूहों की दो लाख 30 हजार से ज्यादा महिलाएं अपना लेन-देने और पैसा जमा कराने का काम कर रही हैं। बीए बीएड तक शिक्षित आबिदा का पीहर सरदारशहर तथा ससुराल झुंझुनू में है।

More From sports

Trending Now
Recommended