संजीवनी टुडे

जानिए वजह जिस कारण से सहवाग नहीं बन पाए इंडिया टीम के कोच!

संजीवनी टुडे 16-07-2017 14:17:08

Know the reasons why Sehwag could not become the coach of India

नई दिल्ली। टीम इंडिया के नए कोच की रेस में पूर्व बल्लेबाज और आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के मेंटर बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग भी फेवरिट माने जा रहे थे। खबरों की मानें तो वीरू को भी कोहली का पूरा समर्थन था, लेकिन अंत में बाजी पूर्व कप्तान रवि शास्त्री ने मार ली।


पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग टीम इंडिया के कोच पद के लिए सबसे आगे माने जा रहे थे। उन्हें अन्य पांच कैंडीडेट्स के साथ इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था। आखिर में रवि शास्त्री को टीम इंडिया का कोच नियुक्त कर दिया गया मीडिया सूत्रों की मानें तो  एक कारण था जिसकी वजह से सहवाग कोच की रेस से बाहर हो गए। 

सहवाग जो आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के डायरेक्टर ऑफ क्रिकेट ऑपरेशन हैं। वह टीम में अपना खुद का स्टाफ चाहते थे। यह बात क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी और खुद कप्तान विराट कोहली को ठीक नहीं लगी। सूत्रों के मुताबिक किंग्स इलेवन पंजाब के मेंटर रहने के चलते सहवाग को विश्वास होने लगा था कि वह इस पोस्ट के अनुकूल हैं।

मीडिया सूत्रों के मुताबिक कुछ दिन बाद सहवाग से कोहली से मिले थे और पूछा था कि क्या उन्हें कोच के तौर पर उनकी टीम पसंद करेगी। कोहली ने उनका स्वागत किया था और सकारात्मक जवाब दिया था।

बताया जा रहा है कि कोहली ने कहा था, 'वीरू पाजी आपका भारतीय क्रिकेट को दिया गया योगदान बेहतरीन है और हम आपसे अच्छी तरह से परिचित हैं। अगर आप कोच पद के लिए आवेदन करते हैं तो मुझे कोई समस्या नहीं है। जो भी कोई सोचता है कि वह भारतीय क्रिकेट को अपना अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान दे सकता है, वह आवेदन दे सकता है और उसे आवेदन करना चाहिए।'

जब सहवाग ने यह बात कही कि उन्हें टीम में अपना सपोर्ट स्टाफ चाहिए तो यह बात कोहली को नहीं जमी। कोहली ने टिप्पणी की कि मौजूदा सपोर्ट स्टाफ टीम के साथ अच्छी तरह से घुलामिला है। वीरेंद्र सहवाग टीम में मिथुल मन्हास को असिस्टेंट कोच के तौर पर चाहते थे।

हालांकि कोहली ने सहवाग को यह भी बताया था, 'पाजी, आपके लिए मेरे मन में बहुत सम्मान है और मुझे मालूम है कि आप बतौर कोच शानदार काम करेंगे, लेकिन आपको यह समझना होगा कि इस पद के लिए एक खास तरह का प्रफेशनल सेटअप है। इसलिए यह थोड़ा मुश्किल भी है और बाकी सब तो सीएसी के हाथ में है।' कोहली ने कहा, 'टीम के साथ मौजूद सपोर्ट स्टाफ को अब काम करते कुछ वक्त हो गया है। असल बात तो यह है कि इनमें से कई ऐसे हैं, जो हर टीम मेंबर की अलग-अलग जरूरतों को समझते हैं।'

कहा जा रहा है कि इसी बिंदु पर शास्त्री कोच की होड़ में आगे निकलने में कामयाब रहे। वह कप्तान और टीम की जरूरतों को लेकर और विस्तृत अप्रोच अपनाने को तैयार थे।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

More From sports

loading...
Trending Now
Recommended