संजीवनी टुडे

शनिवार को इस विधि विधान से करें भगवान शनिदेव की पूजा अर्चना, हो जायेंगे सारे दुःख दूर

संजीवनी टुडे 18-01-2020 08:37:54

शनिवार भगवान शनिदेव का दिन माना जाता हैं। इस दिन शनिदेव की पूजा का विधान हैं। ज्योतिष शास्त्र में शनिदेव को न्याय का देवता माना जाता हैं। शनिदेव का नाम आते ही अक्सर मन किसी अनिष्ट की आशंका से घबराने लगता है। शनि को यम काल दु:ख दारिद्रय तथा मंद कहा जाता है। किसी भी परेशानी संकट दुर्घटना आर्थिक नुकसान के होने पर यह मान लेते है कि शनि की अशुभ छाया पड़ी है।


डेस्क। शनिवार भगवान शनिदेव का दिन माना जाता हैं। इस दिन शनिदेव की पूजा का विधान हैं। ज्योतिष शास्त्र में शनिदेव को न्याय का देवता माना जाता हैं। शनिदेव का नाम आते ही अक्सर मन किसी अनिष्ट की आशंका से घबराने लगता है। शनि को यम, काल, दु:ख, दारिद्रय तथा मंद कहा जाता है। किसी भी परेशानी, संकट, दुर्घटना, आर्थिक नुकसान के होने पर यह मान लेते है कि शनि की अशुभ छाया पड़ी है। बहुत से लोग उनसे डरते हैं मगर वह ऐसे देवता हैं जो सभी के कर्मों का फल देते हैं। उनसे कोई भी बुरा काम नहीं छुपा है। इन्हें खुश करने के लिए लोग क्या क्या नहीं करते है। क्योंकि अगर इनकी वक्र दृष्टि किसी पर पड़ गई तो उसका विनाश हो जाता हैं। दि व्‍यक्‍ति शनिवार को भगवान शनि की पूजा मन और सही तरीके से की जाए तो शनिदेव की असीम कृपा मिलती है और ग्रहों की दशा भी सुधरती है। आइये जानते हैं शनिवार को शनि देव की पूजा कैसे की जाती है जिससे आपको फल प्राप्‍त हो....

ये खबर भी पढ़े: 18 जनवरी 2020: जानिए आज का राशिफल

religion

ऐसे करें शनि देव की पूजा 

हर शनिवार को मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जरूर जलाएं। इस दीपक को भगवान के मंदिर में उनकी शिला के सामने जलाएं। अगर आपके घर के आस पास शनि देव का मंदिर ना हो तो दिया पीपल के पेड़ के नीचे जलाएं। 

शनि महाराज को तेल के दिये के साथ काली उड़द और फिर कोई भी काली वस्‍तु भेंट करें। और शनि देव को भेंज चढ़ाने के बाद शनि चालीसा पढ़ें। 

शनि देव की पूजा करने के बाद हनुमान जी भी पूजा करें। उनकी मूर्ति पर सिंदूर लगाएं और केला चढ़ाएं।  आखिर में शनि देव का मत्र पढ़ें। ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम: 

religion
- शनिवार के दिन शुद्ध स्नान करके पुरुष पूजा कर सकते हैं।

-महिला शनि चबूतरे पर नहीं जाएं। मंदिर हो तो स्पर्श न करें।

-अगर आपकी राशि में शनि आ रहा है तो शनि को अवश्य पूजें।

-अगर आप साढ़ेसाती से ग्रस्त हो तो शनिदेव का पूजन करें।

-यदि आपकी राशि का अढैया चल रहा हो तो भी शनि देव की आराधना करें।

religion
-यदि आप शनि दृष्टि से त्रस्त एवं पीड़ित हो तो शनिदेव की अर्चना करें।

-यदि आप कारखाना, लोहे से संबद्ध उद्योग, ट्रेवल, ट्रक, ट्रांसपोर्ट, तेल, पे‍ट्रोलियम, मेडिकल, प्रेस, कोर्ट-कचहरी से संबंधित हो तो आपको शनिदेव मनाना चाहिए।

-यदि आप कोई भी अच्‍छा कार्य करते हो तो शनि देव की कृपा के लिए प्रार्थना करें।

-यदि आपका पेशा वाणिज्य, कारोबार है और उसमें क्षति, घाटा, परेशानियां आ रही हों तो शनि की पूजा करें।

-अगर आप असाध्य रोग कैंसर, एड्स, कुष्ठरोग, किडनी, लकवा, साइटिका, हृदयरोग, मधुमेह, खाज-खुजली जैसे त्वचा रोग से त्रस्त तथा पीड़ित हो तो आप श्री शनिदेव का पूजन-अभिषेक अवश्य कीजिए।

religion

-सिर से टोपी आदि निकालकर ही दर्शन करें।

-जिस भक्त के घर में प्रसूति सूतक या रजोदर्शन हो, वह दर्शन नहीं करता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From religion

Trending Now
Recommended