संजीवनी टुडे

सोमवार के दिन इस विधि से करें भोलेनाथ की पूजा, प्रसन्न होकर...

संजीवनी टुडे 11-11-2019 08:13:21

इस दिन भगवान शिवजी की पूजा की जाती है। सोम का अर्थ है चंद्रमा जो शिव के जटा पर विराजित है। इस दुनिया में शिव से बड़ा कोई नहीं है। इन्ही के अंदर पूरी सृष्टि बसी है। सही मायने में शिव ही जगतेश्र्वर है। इस दिन शिव की भक्ति करने से उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है।


डेस्क। हिन्दू धर्म परंपराओं में सोमवार का दिन भगवान शिव की भक्ति को समर्पित है। इस दिन भगवान शिवजी की पूजा की जाती है। सोम का अर्थ है चंद्रमा जो शिव के जटा पर विराजित है। इस दुनिया में शिव से बड़ा कोई नहीं है। इन्ही के अंदर पूरी सृष्टि बसी है। सही मायने में शिव ही जगतेश्र्वर है। इस दिन शिव की भक्ति करने से उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है। उनके पूजन के लिए अलग-अलग विधान भी है। भक्त जैसे चाहे उनका अपनी कामनाओं के लिए उनका पूजन कर सकता है। यह शक्ति से परे नहीं है बल्कि इनका ही नारी रूप है शक्ति। इनका रूप अर्धनारीश्वर का है जिसमें इनका आधा रूप नारी का है और आधा पुरुष का है। माना जाता है कि इस दिन जो भी सच्चे मन से इनकी पूजा करता  है उसकी सभी मनोकामना पूरी होती है।

ये खबर भी पढ़े: सोमवार विशेष: इस आरती से करें भगवान शिव जी को प्रसन्न

lifestyle

कैसे करें पूजन

- सोमवार प्रात: सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान करें। फिर शुद्ध वस्त्र धारण कर भगवान शिव का पंचोपचार या षोडषोपचार पूजन करें।

-अन्न ग्रहण ना करें, और क्रोध, काम, चाय, कॉफी पर नियंत्रण रखें।

- दिनभर ॐ नम: शिवाय का जाप करें।

lifestyle

-शिव का पूजन सदा उत्तर की तरफ मुंह करके करना चाहिए क्योंकि पूर्व में उनका मुख पश्चिम में पृष्ठ भाग एवं दक्षिण में वाम भाग होता हैं।

-शिव के पूजन के पहले मस्तक पर चंदन अथवा भस्म का त्रिपुंड लगाना चाहिए और पूजन के पहले शिव लिंग पर जो भी चढ़ा हुआ हैं उसे साफ कर देना चाहिए।

-शिव चालीसा, शिव स्तोत्र, शिव तांडव, शिव महिम्न, रूद्राष्टक, शिव भजन का श्रद्धापूर्वक वाचन करें। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From religion

Trending Now
Recommended