संजीवनी टुडे

जन्माष्टमी पर इस विधि और मुहर्त पर लगाएं भोग, प्राप्त होगी संतान!

संजीवनी टुडे 09-08-2020 15:43:34

इस दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था


डेस्क। जन्माष्टमी का त्यौहार श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। जन्माष्टमी का पर्व 12 अगस्त को मनाया जाएगा। कुछ स्थानों पर कान्हा के जन्मदिन को 11 अगस्त को मनाया जा रहा है, लेकिन अधिकतर स्थानों पर इस पर्व को 12 अगस्त के दिन ही मनाया जा रहा है। मथुरा नगरी में असुरराज कंस के कारागृह में देवकी की आठवीं संतान के रूप में भगवान श्रीकृष्ण भाद्रपद कृष्णपक्ष की अष्टमी को पैदा हुए। उनके जन्म के समय अर्धरात्रि  थी, चन्द्रमा उदय हो रहा था और उस समय रोहिणी नक्षत्र भी था। इसलिए इस दिन को प्रतिवर्ष कृष्ण जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था, इसलिए इसे कृष्ण जन्माष्टमी या केवल जन्माष्टमी के नाम से जाना जाता है।  

Janmashtami 2020 If you  also observing Janmashtami fast then definitely know this story

कुछ नियम
लड्डू गोपाल की सेवा करने के कुछ नियम हैं। यदि हम इन नियमों का पालन करते हैं तो लड्डू गोपाल यानि भगवान श्रीकृष्ण का बाल रूप बहुत लाभ पहुंचाएगा। जन्माष्टमी तो भगवान कृष्ण का जन्मदिन है, लेकिन घर में जिस दिन लड्डू गोपाल का प्रवेश होता है और उनकी प्राण-प्रतिष्ठा होती है, हर साल उस दिन को भी भगवान कृष्ण के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए। घर में बच्चों को बुलाकर लड्डू भगवान का जन्मदिवस मनाया जाना चाहिए। बच्चों को खिलौने के रूप में उपहार दिया जाना चाहिए।

Do not forget on Janmashtami this mistake can be a big loss or else know how

जन्माष्टमी व्रत
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का व्रत सभी आयु के लोग कर सकते हैं, लेकिन जिनको स्वास्थ्य समस्याएं हैं वे इसे न करें तो अच्छा है। वे केवल भगवान की आराधना करें। ज्यो​तिषीय मान्यताओं के अनुसार, जन्माष्टमी का व्रत करने से व्यक्ति को बाल कृष्ण जैसी संतान प्राप्त होती है।

Janmashtami

भोग
घर में यदि कोई खाने की चीज आती है, तो उसमें से भगवान श्रीकृष्ण का हिस्सा भी अवश्य रखना चाहिए। सबसे पहले उन्हें भोग लगाएं। भगवान को खिलौने प्रिय हैं। उनके लिए खिलौने लाते रहें और उनके पास रखें। उनके साथ खेले भी। लड्डू भगवान को कोई नाम दें। आप उनके साथ कोई रिश्ता भी बना सकते हैं। उन्हें पुत्र, पिता, गुरु मान सकते हैं। इस आधार पर नाम दें और सुबह प्रेमपूर्वक उठाएं। रात को भी ऐसा ही सुलाएं।

Chant this amazing miracle mantra on Janmashtami children will be received

यह खबर भी पढ़े: अगर प्रतियोगी परीक्षा में पाना चाहते है सफलता, तो जरूर याद करें ये महत्त्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी

यह खबर भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा में पाना चाहते है अच्छे अंक, तो जानें ये महत्त्वपूर्ण प्रश्नोत्तरी

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From religion

Trending Now
Recommended