संजीवनी टुडे

मंगलवार हनुमान जी का दिन, पूजा में भूलकर भी न करें ये काम

संजीवनी टुडे 13-08-2019 08:12:55

भगवान हनुमान भक्‍तों को हर बुरी बला और भय से बचाते हैं। मान्‍यता है कि हनुमान जयंती के दिन अगर तन-मन-धन से श्री हनुमान की पूजा अर्चना की जाए तो वह बेहद प्रसन्‍न होते हैं। वैसे तो हनुमान जी बहुत दयालू और भक्‍तों की हर पीड़ा हरने वाले है


डेस्क। जब कोई भक्त हनुमानजी को सच्चे मन से समर्प्रित होकर याद करता है तब आसानी से हनुमानजी उस पर प्रसन्न हो जाते है | भगवान हनुमान भक्‍तों को हर बुरी बला और भय से बचाते हैं। मान्‍यता है कि हनुमान जयंती के दिन अगर तन-मन-धन से श्री हनुमान की पूजा अर्चना की जाए तो वह बेहद प्रसन्‍न होते हैं। वैसे तो हनुमान जी बहुत दयालू और भक्‍तों की हर पीड़ा हरने वाले है, लेकिन फिर भी उनकी पूजा करने के कुछ नियम हैं। शास्त्रों और पुराणों में हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए मंगलवार और शनिवार का दिन विशेष बताया गया है। यही कारण है मंगलवार और शनिवार को सबसे ज्यादा हनुमान जी की पूजा होती है। हनुमान जी के भक्त कई बार जाने-अनजाने ऐसी भूल कर बैठते हैं जिससे उन्हें पूजा का पूरा फल नहीं मिल पाता है। 


यह खबर भी पढ़ें: हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए मंगलवार को इस विधि विधान से करें पूजा

शास्त्रों में खंडित और टूटी हुई हनुमान जी मूर्ति की पूजा करना भी वर्जित माना गया है। इसलिए भूलकर भी न तो घर पर ऐसी मूर्ति की पूजा करें और न ही रखें।

sg

मांस या मदिरा इत्यादि का सेवन करके भूल से भी ना तो हनुमान जी के मंदिर ना जाये और ना घर पर उनकी पूजा न करें।

भूल कर भी काले या सफ़ेद वस्त्र धारण करके हनुमान जी की पूजा न करें। हनुमान जी को लाल और केसरिया रंग प्रिय है इसलिए इनकी पूजा लाल, केसरिया या पीले वस्त्र में ही करें।  

जो लोग मंगलवार को हनुमान जी की पूजा और उनका व्रत करते हैं। ऐसे में इन भक्तों को भूलकर भी व्रत के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए।

अगर आपका मन किसी कारण से ठीक नहीं है तो उस दिन हनुमान जी पूजा नहीं करना ही बेहतर होगा। शांत मन और श्रद्धा पूर्वक से ही हनुमानजी की पूजा करने ही पूरा फल प्राप्त होता है।

sg

हनुमान जी की पूजा में कभी प्रसाद के रूप में चरणामृत का प्रयोग नहीं होता है।

अगर आप मंगलवार और शनिवार को व्रत रखते है तो अपने घर के पास स्थित हनुमान मंदिर जाकर बंजरगबली के दर्शन जरूर करना चाहिए। बिना दर्शन के व्रत का पारण करने से पूजा का फल प्राप्त नहीं होता।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166 

 

More From religion

Trending Now
Recommended