संजीवनी टुडे

कल हैं बसंत पंचमी: भूलकर भी न करें ये काम, मां सरस्वती हो सकती रुष्ट

संजीवनी टुडे 28-01-2020 10:56:46

हिन्दू पंचांग के अनुसार, माघ शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का पर्व मनाया जाता है। बसंत पंचमी यानी सरस्वती पूजा का पर्व इस साल 29 जनवरी को मनाया जाएगा। बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से विद्यार्थियों को बुद्धि और विद्या का वरदान प्राप्त होता है।


डेस्क। हिन्दू पंचांग के अनुसार, माघ शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को बसंत पंचमी का पर्व  मनाया जाता है। बसंत पंचमी यानी सरस्वती पूजा का पर्व इस साल 29 जनवरी को मनाया जाएगा। बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करने से विद्यार्थियों को बुद्धि और विद्या का वरदान प्राप्त होता है। बसंत पंचमी के त्योहार पर लोग पीले वस्त्र पहनते हैं और पीले रंग के फूलों से मां सरस्वती की पूजा करते हैं।  इस वर्ष वसंत पंचमी 29 जनवरी 2020, बुधवार को तो मत-मतांतर के चलते कई स्थानों पर यह 30 जनवरी 2020, गुरुवार को मनाई जाएगी। बसंत पंचमी के दिन के लिए कई नियम बनाए गए हैं, जैसे- आज के दिन पीले या सफेद वस्त्र धारण करना चाहिए। मान्यता है कि बसंत पंचमी के नियमों का यदि पालन न किया जाए तो मां सरस्वती और पितृ रूठ सकते है। जानें क्या हैं ये नियम|

 ये खबर भी पढ़े: कल हैं बसंत पंचमी: जानें मां सरस्वती की पूजन विधि और शुभ मुहूर्त

Basant Panchami

बसंत पंचमी पर्व का शुभ मुहूर्त 

पूजा मुहूर्त - 10:45 से 12:35 बजे तक
पंचमी तिथि का आरंभ - 10:45 बजे से (29 जनवरी 2020)
पंचमी तिथि समाप्त - 13:18 बजे (30 जनवरी 2020) तक

बसंत पंचमी पर न करें काम

Basant Panchami

 -बसंत पंचमी को काले रंग के कपड़े नहीं पहनने चाहिए। आज के दिन पीले वस्त्र धारण करना शुभ माना जाता है।

-बसंत पंचमी के दिन किसी भी रूप में घर तामिसक भोजन का प्रयोग न करें।

-बसंत पंचमी पर मदिरा का सेवन बिल्कुल भी न करें । क्योंकि इस दिन पितरों का तर्पण भी किया जाता है।

-इस दिन आपको अपने गुरु या गुरु समान लोगों का अपमान बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से आपको ज्ञान की प्राप्ति नहीं होगी।

Basant Panchami

-बसंत पंचमी पर किसी भी जानवर को न मारें और न हीं उसे सताएं। 

-यदि आप बसंत पंचमी का व्रत करते हैं तो आप इस दिन किसी पेड़ के पत्तों को भूलकर भी न तोड़ें। 

-बसंत पंचमी किसी भी रूप में क्रोध बिल्कुल भी न करें नहीं तो मां सरस्वती आपको दंड के रूप में आपकी बुद्धि का हरण कर सकती हैं।

-बसंत पंचमी पर विद्या देने वाली किसी भी चीज का अपमान न करें। क्योंकि ऐसा करने से मां सरस्वती आपसे नाराज हो जाएंगी।

Basant Panchami

-इस दिन को फसल और हरियाली का त्योहार माना जाता है। इसलिए इस दिन किसी भी फसल को न काटें और न हीं किसी पेड़ को काटें।

-किसी भी प्रकार से इस दिन घर में कलेश न करें । क्योंकि इस दिन यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको मां सरस्वती के क्रोध का सामना करना पड़ सकता है। 

 जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में बुक करें 9314166166 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From religion

Trending Now
Recommended