संजीवनी टुडे

पंचकल्याणक में तीर्थंकर आदिकुमार कि ऐरावत हाथी पर निकली शोभायात्रा

संजीवनी टुडे 17-05-2019 19:15:15


जयपुर। आचार्य वासुनन्दी जी महाराज सहित ग्यारह दिगम्बर मुनिराजो के पावन सानिध्य में चर रहे प्रताप नगर सेक्टर-8 जयपुर पंचकल्याणक महामहोत्सव में आज तीर्थंकर बालक आदिकुमार का माता मरूदेवी कि कोंख से जन्म हुआ |

आयोजन समिति अध्यक्ष राजीव जैन लाखना के अनुसार प्रातः नित्यनियम पूजन उपरान्त तीर्थंकर बालक आदिकुमार का जन्म हुआ जन्म के साथ हि सम्पूर्ण पाण्डाल में खुशिया दौड़ गई एक तरफ आदिकुमार कुमार के पिता नाभिराज अपने दरबार में सोधर्म इन्द्रादि इन्द्रो के साथ झूम रहे थे वहि आयोजन में आये सभी नर नारी झूम उठे जेसे वास्तविक अयोध्या नगरी में वास्तविक तीर्थंकर बालक आदिनाथ का हि जन्म हुआ हो सम्पूर्ण माहोल खुशनुमा हो गया, तीर्थंकर भगवान आदिनाथ के जन्म की खुशियां छाई रहीं। भगवान के जन्म कल्याण के दौरान इंद्र-इंद्राणी बने पात्रों ने भक्ति नृत्य कर खुशी का इंजहार किया। जयकारों के बीच जन्म कल्याणक आराधना हुई। अधिकांश भक्त सफेद और केसरिया वस्त्र धारण किए थे।

ु

महोत्सव समिति के पंकज जैन ने बताया इस अवसर पर भगवान कि शांतिधारा श्री महेन्द्र जी दालमील वालों द्वारा एवं आरती भँवर लाल जी राधेश्याम जी टोरडी एवं बसन्ती लाल जी अतिव जी द्वारा कि गई तदुपरान्त धर्म सभा का शुभारम्भ हुआ धर्म सभा में आचार्य श्री वसुनंदी जी महाराज का पादप्रक्षालन समाज श्रेष्ठी श्री गणेश जी राणा द्वारा हुआ,आचार्य वसुनंदी जी महाराज ने धर्म सभा को सम्बोधित किया, पूज्य आचर्य श्री ने कहा कि पंचकल्याणक तीर्थकर भगवान के गर्भ में आने से लेकर मोक्ष जाने पर्यन्त विशिष्ट समारोहों के रूप में मनुष्य व देवताओं द्वारा यथासमय मनाये जाते हैं। ये कल्याणक इनके तीर्थकर नामक सर्वातिशायी पुण्य प्रकृति के उदय से ही होते हैं, क्योंकि सामान्य केवलियों के वह नहीं होते। पंचकल्याणक तीर्थकरों के ही होते हैं|

ु

आदिकुमार के जन्म के बाद सोधर्म इन्द्र द्वारा अयोध्या नगरी कि प्रदक्षीणा कि गई तदुपरान्त सची इन्द्राणी बालक आदिकुमार को माता मरूदेवी से मांग के लाई और सोधर्म इन्द्र को पण्डुक शिला पर अभिषेक हेतु ले गये इसअवसर पर सोधर्म इन्द्र बालक आदिकुमार को एरावत हाथी पर बिठा के विशाल शोभायात्रा के साथ पाण्डुक शीला पर ले जा के 1008 कलशो से अभिषेक किये |

ु

स्थानीय समाज के मन्त्री कमल सोगाणी जी ने बताया शोभायात्रा में हाथी घोड़े, ऊंट, बघियाँ बेंड सहित लवाजमे के साथ ऐरावत हाथी पर बालक आदिकुमार विराजमान थे , शोभायात्रा के मार्ग में स्थानीय व्यापार मण्डल एवं विभिन्न सामाजिक संस्थाओ द्वारा पुष्पवर्ष्टि कि गई, सायकाल मंगल आरती के उपरान्त आदिकुमार को पालने में झुलाने सहित बाल क्रीडाओ का मंचन किया गया, आज के महोत्सव में समाजभूषण राजेन्द्र के गोधाजी, गणेश जी राणा, ज्ञानचंद जी झांझरी, युवासमाजसेवी प्रदीप जैन, राकेश गोधा, विनोद जैन कोटखावदा, अतुल बिलाला, सुनील जैन, कमल पाटनी कालाडेरा, संजय ठोलिया,चेतन जैन निमोडिया सहित विभिन्न मंदिरों एवं सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारियों ने भाग लिया |     

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

पंचकल्याणक महोत्सव में आज होगा तप कल्याणक 
मिडिया प्रभारी बाबु लाल ईटून्दा के अनुसार आज प्रातः मन्त्र आराधना, नित्यमह पूजा एवं जन्म कल्याणक पूजा व हवन के बाद आचार्य श्री के मंगल प्रवचन एवं तप कल्याणक कि क्रियाओ में महाराजा नाभिराज का दरबार, आदिकुमार का राज्याभिषेक, राज्य संचालन, असी,मसि,कृषि का प्रदर्शन, निलान्जला का नृत्य, आदिकुमार का वैराग्य, भरत व बाहुबली को राज्य सोंपना, दीक्षा एवं वन प्रस्थान कि क्रियाँए होगी |

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

More From religion

Trending Now
Recommended