संजीवनी टुडे

व्यक्ति शारीरिक बल की कमी से नहीं पिछड़ता, बल्कि आत्मविश्वास से

संजीवनी टुडे 06-12-2018 16:44:54


डेस्क। व्यक्ति में कार्य करने की क्षमताएं अंतर्निहित होती हैं, लेकिन कुछ व्यक्ति सामान्य से कार्य भी नहीं कर सकते। व्यक्ति मे कार्यों करने की क्षमता उसका आत्म-विश्वास है। कुछ लोग आत्म-विश्वास से असंभव से लगने वाले कार्यों में भी सफलता प्राप्त कर लेते हैं।  

- आत्म-विश्वास का निर्धारण हमारा परिवेश, हमारी परंपराएं, हमारी शिक्षा-दीक्षा व प्रशिक्षण मुख्य रूप से हमारे आत्म-विश्वास को निर्धारित करते हैं। 

- आत्म-विश्वास को कमजोर मत होने दो। हमारे आत्म-विश्वास का सीधा प्रभाव हमारे न्यूरॉन्स अथवा मस्तिष्क की कोशिकाओं पर पड़ता है जो विचार के क्रियान्वयन के लिए उत्तरदायी होती हैं। 

- आत्म-विश्वास के कारण हमारी बिखरी हुई ऊर्जा एकाग्र होकर असंभव से असंभव कार्य को सरलता से कर डालती है।

- सोच को सकारात्मक बनाकर हम अपने आत्म-विश्वास में वृद्धि कर सकते हैं और इस आत्म-विश्वास के द्वारा अपेक्षाकृत कठिन कार्य भी सरलता से कर सकते हैं।

-  हमारे आत्म-विश्वास की कमी के कारण ही होता है कि हम किसी कार्य को या तो प्रारंभ ही नहीं कर पाते और प्रारंभ कर भी देते हैं तो उसे पूरा नहीं कर पाते या फिर किसी तरह से आधे-अधूरे मन से करते हैं। 

- आत्म-विश्वास के अभाव के कारण ही व्यक्ति साहसिक कार्य नहीं कर पाते और जीवन में कोई जोखिम नहीं उठा पाते।

-  व्यक्ति शारीरिक बल की कमी से अपने जीवन में नहीं पिछड़ते, बल्कि आत्मविश्वास की कमी के कारण पिछड़ जाते हैं। 

- जोखिम ही बड़े कार्यों के करने और उनमें सफलता प्राप्त करने के लिए अनिवार्य है। 

- कोई कार्य करते समय ज्यादा सोचने-विचारने की बजाय अपने आत्म-विश्वास को मजबूत कीजिए। 

जयपुर में प्लॉट/ फार्म हाउस: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में, मात्र 2.30 लाख Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

- किसी महान कार्य को करने के लिए विशेष शारीरिक क्षमता अथवा विशिष्ट ज्ञान की आवश्यकता नहीं होती। बल्कि विश्वास और आत्मविश्वास होना जरुरी है। 

sanjeevni app

More From religion

Loading...
Trending Now