संजीवनी टुडे

बसंत पंचमी पर ऐसे करें विद्या की देवी सरस्वती की आराधना, हाेंगी मनचाही मनाेकामनाएं पूरी

संजीवनी टुडे 22-01-2018 07:31:31

नई दिल्ली। 22 जनवरी 2018 यानि सोमवार को वसंत पंचमी मनाई जाएगी। इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा का विधान है। बसंत पंचमी का पर्व आस्था और भक्ति के साथ मनाया  जाता है ।

 Basant Panchami

इस शुभ अवसर पर ज्ञान की देवी का आर्शीवाद पाने के लिए विद्यार्थी और बच्चे उनकी पूजा करते हैं। इतना ही नहीं जो लोग संगीत के क्षेत्र से जुड़े होते हैं वो भी इस दिन मां सरस्वती की पूजा करते हैं क्योंकि हाथ में वीणा धारण किए हुए देवी सरस्वती को संगीत और कला की देवी भी माना जाता है।

 Basant Panchami

बसंत पंचमी को हरियाली का त्योहार भी कहा जाता है। इस मौसम में किसान खेतों में लहराती हरी भरी फसल को देखकर  बड़े ही उत्साहित नज़र आते हैं, बसंत रितू में खेतों में चमकने वाली पीले रंग की सरसों  की फसल किसी का भी मन मौह लेती है।  

 

 Basant Panchami

बसंत पंचमी मुहूर्त: पंचमी तिथि 21 जनवरी 2018 दिन रविवार को दिन में 12:28 बजे से प्रारम्भ होकर 22 जनवरी 2018 दिन सोमवार को दिन में 12:38 बजे तक विद्यमान रहेगी। उदया तिथि के कारण बसन्त पंचमी का महान पर्व 22 जनवरी को होगा। इसलिए 12:38 बजे तक पूजा अर्चना कर लें। इस दिन गंगा स्नान कर माता सरस्वती का पूजन अर्चन श्रेष्ठ फल दायक होता है।

 Basant Panchami

पूजन विधि: घर की उत्तर दिशा में पीला वस्त्र बिछाकर सरस्वती का चित्र स्थापित पर उसका विधिवत पूजन करें। हल्दी मिले गौघृत का दीप करें, सुगंधित धूप करें, पीले कनेर के फूल चढ़ाएं, पीत चंदन से तिलक करें, बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। इस विशेष मंत्र को 108 बार जपें। इसके बाद भोग किसी गरीब को बांट दें। 
 

Rochak News Web

More From religion

Trending Now
Recommended