संजीवनी टुडे

2 दिन बाद है जन्माष्टमी का पर्व, श्रीकृष्ण प्रसन्न होंगे इन चीजों से, देंगे सुख और सौभाग्य का आशीर्वाद

संजीवनी टुडे 10-08-2020 09:26:42

भगवान श्रीकृष्ण भाद्रपद कृष्णपक्ष की अष्टमी को पैदा हुए।


डेस्क। जन्माष्टमी का त्यौहार श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। जन्माष्टमी का पर्व 12 अगस्त को मनाया जाएगा। कुछ स्थानों पर कान्हा के जन्मदिन को 11 अगस्त को मनाया जा रहा है, लेकिन अधिकतर स्थानों पर इस पर्व को 12 अगस्त के दिन ही मनाया जा रहा है। मथुरा नगरी में असुरराज कंस के कारागृह में देवकी की आठवीं संतान के रूप में भगवान श्रीकृष्ण भाद्रपद कृष्णपक्ष की अष्टमी को पैदा हुए। उनके जन्म के समय अर्धरात्रि  थी, चन्द्रमा उदय हो रहा था और उस समय रोहिणी नक्षत्र भी था। इसलिए इस दिन को प्रतिवर्ष कृष्ण जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था, इसलिए इसे कृष्ण जन्माष्टमी के नाम से जाना जाता है इस दिन श्री कृष्ण को प्रिय सामग्री समर्पित करने से श्री कृष्ण का विशेष आशीर्वाद मिलता है। आइए जानें क्या है ये चीजें?

Randhan Chhath Tomorrow will be celebrated Hal Chhath learn interesting story related to it

तुलसी - कान्हा पूजन में तुलसी का प्रयोग जरूर करें।
झूला - कृष्ण जन्माष्टमी के दिन सुंदर सुसज्जित झूला लाकर उसमें कान्हा जी बिठाएं।
शंख-  जन्माष्टमी के पर्व पर भगवान कृष्ण के नंदलाल स्वरूप का शंख में दूध डालकर अभिषेक करना चाहिए। 
फल व अनाज - कृष्ण जन्माष्टमी के दिन धार्मिक स्थल पर जाकर फल और अनाज दान करना चाहिए। 
राखी- कान्हा जी और बलराम जी को राखी बांधें।

Janmashtami

पारिजात - हारसिंगार, पारिजात या शैफाली के फूल श्रीकृष्ण को बहुत पसंद है। अपनी पूजन में इनका प्रयोग करना चाहिए। 
चांदी की बांसुरी - इस दिन चांदी की बांसुरी को लाकर कान्हा को चढ़ाएं। बाद में पूजन संपन्न होने के बाद इसे अपने पर्स में हिफाजत से रखें।
माखन-मिश्री - जन्माष्टमी के दिन माखन और मिश्री का भोग लगाकर 1 साल से छोटे बच्चों को अपनी अंगुली से चटाएं।
गाय-बछड़ा- इस दिन गाय-बछड़े की नन्ही प्रतिमा लाने से भी धन और संतान संबंधी चिंताएं दूर होती हैं।
मोर पंख - मोर पंख श्रीकृष्ण को अत्यंत प्रिय है। अत: जन्माष्टमी पूजन में इसे जरूर चढ़ाएं।

Janmashtami 2020 If you  also observing Janmashtami fast then definitely know this story
 

यह खबर भी पढ़े: 2 दिन बाद मनाया जाएगा जन्माष्टमी का पर्व, मंदिरों में नहीं दिखेगी रौनक

यह खबर भी पढ़े: बनानें में है बहुत आसान और खानें में है बेहद लाजवाब ये रेसिपी

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From religion

Trending Now
Recommended