संजीवनी टुडे

सरकारी पैनल का दावा: सर्दी में 65 करोड़ लोग हो सकते हैं कोरोना सक्रमित

संजीवनी टुडे 20-10-2020 08:43:39

भारत में अगले साल तक कम से कम आधी आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकती है। मतलब भारत के 130 करोड़ लोगों में से लगभग 65 करोड़ लोग कोरोना सक्रमित हो सकते हैं।


नई दिल्ली। इस समय पूरी दुनिया कोरोना महामारी से त्राहि त्राहि कर रही हैं। इस बीच खबर आ रही हैं। भारत में अगले साल तक कम से कम आधी आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकती है। मतलब भारत के 130 करोड़ लोगों में से लगभग 65 करोड़ लोग कोरोना सक्रमित हो सकते हैं। ऐसा दावा किया भारत सरकार की ओर से गठित विशेषज्ञों के एक पैनल ने, जिसके एक सदस्य ने सोमवार को यह जानकारी दी। हालांकि, पैनल ने यह भी अनुमान लगाया है कि इतनी बड़ी आबादी के संक्रमण के चपेट में आने के बाद इस बीमारी की रफ्तार धीमी होने में मदद मिलेगी। 

covid19

सरकारी डेटा के अनुसार सितंबर महीने के दूसरे हफ्ते तक एक पीक देख चुके देश में नए कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में गिरावट आई है। फिलहाल देश में औसतन रोजाना 61 हजार नए कोरोना केस सामने आ रहे हैं, जबकि जांच का दायरा लगातार बढ़ रहा है। 

अब तक 30% आबादी संक्रमित!

मानिंद्र अग्रवाल के मुताबिक सरकारी कमेटी के गणितीय आंकलन के तहत देश की तीस फीसदी आबादी कोरोना संक्रमित हो चुकी है। इस हिसाब से आने वाली फरवरी तक देश की पचास फीसदी आबादी कोरोना संक्रमित हो सकती है। 

आपको बता दें कि दुनिया में कोरोना वायरस संक्रमितों के मामले में भारत अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर पहुंच गया है। भारत में अभी तक लगभग 75 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है। हालांकि, सितंबर के बाद से देश में कोरोना वायरस के नए मामलों में कमी देखने को मिल रही है। भारत में फिलहाल पिछले एक महीने में रोजाना औसतन 61390 नए केस सामने आ रहे हैं। 

covid19

जानकारी के अनुसार सरकार की ओर से गठित पैनल के सदस्य और आईआईटी कानुपर के प्रोफ्रेसर मणिंद अग्रवाल ने कहा कि  हमारे गणितीय मॉडल का आकलन है कि फिलहाल देश में करीब 30 प्रतिशत आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुकी है और फरवरी तक यह आंकड़ा 50 फीसदी तक पहुंच जाएगा।

वहीं, जीरो सर्वे और सीरोलॉजिकल सर्वे को लेकर समिति के सदस्य ने कहा कि सर्वे के आंकड़ों से वो ज्यादा सहमत नहीं रखते हैं क्योंकि सर्वे शायद सही मानकों के अनुकूल नहीं हुआ हो। बता दें कि इन सर्वे के आधार पर केंद्र सरकार ने दावा किया है कि सितंबर तक देश की करीब 14 फीसदी आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुकी थी।

covid19

समिति के सदस्य ने कहा कि हमने एक नया मॉडल विकसित किया है जो स्पष्ट रूप से अप्रमाणित मामलों को ध्यान में रखता है। इसलिए हम संक्रमित लोगों को दो श्रेणियों में विभाजित कर सकते हैं। जिसमें रिपोर्ट किए गए मामले और वो जो रिपोर्ट नहीं करते हैं।

समिति ने यह भी चेतावनी दी है कि अगर सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड-19 के लिए जारी सावधानी पर अमल नहीं किया गया तो केस में भारी वृद्धि लगभग 26 लाख केस हर महीने आ सकते हैं। इसके साथ-साथ पैनल ने त्योहारी सीजन को लेकर कहा है कि इससे केस में बढ़ोतरी हो सकती है।

यह खबर भी पढ़े: IPL 2020/ धोनी की टीम को राजस्थान रॉयल्स से मिली एक और करारी हार, जानिए कौन जीत का हीरो

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended