संजीवनी टुडे

अमावस्या पर नहीं करे ये गलतियां रखे इन बातो का ध्यान

संजीवनी टुडे 18-10-2018 16:35:46


डेस्क। प्रकृति में अपना एक विशेष महत्व है। पूर्णिमा की रात मे  चांद आकाश में चमकता हुआ नजर आता है, लेकिन अमावस्या को चांद के दर्शन नहीं होते। अमावस्या के दिन की अंधेरी काली रात मे अनेक बुरी शक्तियां लेकर आती हैं। तो जानते हैं अमावस्या से जुड़ी कुछ खास बातें। 

- हिंदू धर्म में ऐसा माना जाता है की अमावस्या की तांत्रिकों के लिए ये रात खास खास मानी जाती है। तांत्रिक अपनी सिद्धियों से विभिन्न शक्तियों को जाग्रत करते हैं। 

- हिन्दू पंचांग के अनुसार माह के 30 दिन को चन्द्र कला के आधार पर 2 पक्षों में बांटा गया है शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष। जो कि प्रत्येक माह में 15 दिन के होते हैं। 

- अमावस्या के दिन पवित्र नदियों में स्नान और ईश्वर की आराधना की सलाह दी जाती हैं। धर्म शास्त्रों के अनुसार अमावस्या पर व्यक्ति को मांस मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। 

 -पूर्णिमा के समान ही अमावस्या पर भी पवित्र नदियों में स्नान का महत्व है। प्रत्येक माह की अमावस्या और पूर्णिमा के साथ एक कथा जुड़ी हुई है। विशेष ग्रह नक्षत्रों का भी विशेष लाभ प्राप्त होता है।

- अमावस्या के दिन दान व ईश्वर की आराधना अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से ईष्ट जहां प्रसन्न होते हैं वहीं बुरी शक्तियां भी आपसे दूर रहती हैं। 
 
- अमावस्या और पूर्णिमा का प्रभाव माह के अनुसार भी पड़ता है। ग्रह नक्षत्रों के हिसाब से विभिन्न राशियों के जातकों पर ही इसका प्रभाव देखने को मिलता है। 

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

- हिंदू धर्म में इसका विशेष महत्व है। हर पाक्षिक में पूर्णिमा और अमावस्या पर उनके महत्व के अनुसार ही दान पुण्य किया जाता है।

sanjeevni app

More From religion

Loading...
Trending Now
Recommended