संजीवनी टुडे

शादियों के लिए 'देव दीपावली' सबसे अच्छा शुभ मुहूर्त

संजीवनी टुडे 24-11-2020 14:51:41

विवाह व अन्य मांगलिक कार्यों के लिए वर्ष 2020 ठीक नहीं रहा। कोरोना के कारण घोषित लाकडाउन के चलते अप्रैल, मई, जून व जुलाई की लगन स्थगित करनी पड़ी।


ऋषिकेश। विवाह व अन्य मांगलिक कार्यों के लिए वर्ष 2020 ठीक नहीं रहा। कोरोना के कारण घोषित लाकडाउन के चलते अप्रैल, मई, जून व जुलाई की लगन स्थगित करनी पड़ी। अब नवम्बर के बाकी बचे दिनों व दिसम्बर में विवाह के मात्र छह मुहूर्त हैं। इसके बाद 22 अप्रैल 2021 के बाद विवाह का मुहूर्त आएगा। विवाह का सबसे अच्छा मुहूर्त 30 नवम्बर को देव दीपावली पर है।  यह कहना है उत्तराखंड के प्रमुख ज्योतिषाचार्य पंडित राजेंद्र नौटियाल का।

वह कहते हैं कि देवोत्थान एकादशी के बाद 30 नवम्बर देव दीपावली से विवाह का मुहूर्त आरंभ हो जाएगा। एक, छह, आठ, नौ व 11 दिसम्बर को विवाह का मुहूर्त है। इसके बाद 16 दिसम्बर की सुबह 6:49 बजे खरमास लग जाएगा। खरमास 14 जनवरी को दिन में 2.37 बजे खत्म होगा। फिर पौष शुक्लपक्ष की तृतीया तिथि 16 जनवरी 2021 से गुरु अस्त हो जाएंगे। 

गुरु, माघ शुक्लपक्ष की प्रतिपदा तिथि 12 फरवरी को सुबह 10:6 बजे उदित होंगे। तीन दिन उनका बाल्यकाल रहेगा। फिर माघ शुक्लपक्ष चतुर्थी तिथि 14 फरवरी को शुक्र वृद्ध हो जाएंगे। इसके तीन दिन बाद यानी 17 फरवरी को शुक्र अस्त हो जाएंगे। ऐसी स्थिति में कोई मांगलिक कार्य नहीं होंगे। शुक्र का उदय चैत्र शुक्लपक्ष की सप्तमी तिथि 19 अप्रैल को होगा। उदित होने के तीन दिन तक उनका बाल्यत्व रहेगा। शुक्र का बाल्यत्व 22 अप्रैल की सुबह 5:41 बजे खत्म होगा। इसके बाद लगन सहित समस्त मांगलिक कार्य होंगे।

यह खबर भी पढ़े: कंगना रनौत के ऑफिस तोड़फोड़ मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट 27 नवंबर को सुनाएगा फैसला

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From religion

Trending Now
Recommended