संजीवनी टुडे

उदासीनता : धौलपुर में आठ महीने से बंद है नैरोगेज ट्रेनों का संचालन

संजीवनी टुडे 30-11-2020 06:41:54

धौलपुर में आठ महीने से बंद है नैरोगेज ट्रेनों का संचालन


धौलपुर। देश और दुनिया में सामान्य जनजीवन को ध्वस्त करने वाले कोरोना के घातक  असर के चलते धौलपुर में बीते करीब आठ महीने से नैरोगेज ट्रेनों का संचालन बंद पडा है। लॉक डाउन की शुरूआत से ही उत्तर मध्य रेलवे के आगरा-ग्वालियर रेल सैक्शन में आने वाले धौलपुर में नैरोगेज की सभी आधा दर्जन ट्रेनों के पहिए थमे हुए हैं। उच्च रेल प्रशासन की उदासीनता के आलम के चलते नैरोगेज की सुध लेने वाला कोई नहीं है। बीते करीब एक सप्ताह से आगरा और झांसी के बीच में पैसेंजन ट्रेनों का संचालन शुरू हो चुका है। अब इसी आधार पर नैरोगेज ट्रेनों का संचालन फिर से बहाल करने की मांग जोर पकड रही है। लेकिन रेलवे की उदासीनता से धौलपुर रेलवे स्टेशन को जंक्शन का दर्जा दिलाने वाली नैरोगेज को अभी भी रेल प्रशासन की हरी झंडी का इंतजार है। 

देश में कोरोना संकट के शुरू में 22 मार्च को देशव्यापी लॉकडाउन के कारण ब्राडगेज के साथ साथ धौलपुर में नैरोगेज ट्रेनों के पहिए भी थम गए थे। करीब डेढ सौ साल पुरानी धौलपुर जिले के रियासतकालीन रेल सैक्शन में कुल आधा दर्जन ट्रेनों का संचालन होता है। इनमें 52179 धौलपुर-सरमथुरा,52180 सरमथुरा-धौलपुर,52181 धौलपुर-तांतपुर,52182 तांतपुर-बाडी,52183 बाडी-सरमथुरा तथा 52184 सरमथुरा-धौलपुर जैसी पेंसेजर ट्रेन शामिल हैं। देश में रेल सेवाओं की बहाली चल रही है,लेकिन उदासीनता के चलते इस कवायद में अभी तक धौलपुर की नैरोगेज ट्रेनों के संचालन के बारे में भी कोई निर्णय अथवा दिशा निर्देश जारी नहीं किए गए हैं।

धौलपुर जिले के डांग इलाके की जीवन रेखा कही जाने वाली नैरोगेज ट्रेन के शुरू नहीं होने से ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड रहा है। करीब आठ महीने बीतने के बाद भी नैरोगेज ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं हो पाया है। ऐसे में धौलपुर से बाडी,बसेडी और सरमथुरा के साथ साथ उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के तांतपुर तक रेल सेवा की बहाली नहीं हो पा रही है। नैरोगेज बंद होने का सबसे ज्यादा नुकसान ग्रामीण क्षेत्र के आवाम को हो रहा है। धौलपुर तथा आसपास के इलाकों में नैरोगेज ट्रेन ही आवागमन का प्रमुख और सुविधाजनक जरिया है।

केन्द्र सरकार द्वारा किए गए अनलॉक के विभिन्न चरणों में ब्राडगेज में ट्रेनों का संचालन सुचारू होता जा रहा है। सचखंड एक्सप्रेस से ट्रेन संचालन के कुछ महीनों के बाद में अब रेलवे ने जीटी एक्सप्रेस एवं ग्वालियर अहमदाबाद एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेन शुरू कर दीं। हाल ही में रेल प्रशासन ने आगरा और झांसी के बीच चलने वाली दो पैसेंजर ट्रेनों को भी एक्सप्रेस बनाकर चलाया है। लेकिन रेल प्रशासन का धौलपुर की नैरोगेज ट्रेनों को शुरू करने को लेकर घोर उदासीनता सामने आ रही है। नैरोगेज ट्रेनों का संचालन बंद होने से लोग परेशान हैं,वहीं रेलकर्मियों को माईलेज नहीं मिलने के कारण उन्हें भी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड रहा है। 

नैरोगेज ट्रेनों का संचालन फिर से पटरी पर नहीं लौटने के पीछे उच्च रेल प्रशासन के साथ साथ जन प्रतिनिधियों की उदासीनता और उपेक्षा भी सामने आई है। स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने भी नैरोगेज के संचालन को शुरू करने के लिए दिल्ली दरबार में अपनी आवाज बुलंद नहीं की है। इससे लोगों में रोष दिखाई पड रहा है। अब धौलपुर के आवाम को इंतजार इस बात का है कि ब्राडगेज में ट्रेनों के संचालन सुचारू होने के बाद में धौलपुर के इस रेल सैक्शन में ट्रेनों की आवाजाही सामान्य हो,जिसे धौलपुर और आगरा के ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को भी रेल के जरिए आवागमन की सुविधा मिल सके।

यह खबर भी पढ़े: पाकिस्तानी सीमा पर BSF जवान गोलियों से निशाना बनाकर मार गिरा रहे पाक ड्रोन

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From rajasthan

Trending Now
Recommended