संजीवनी टुडे

विशेष योग्यजनों की शारीरिक कमजोरी को उनकी ताकत बना उन्हें आत्मनिर्भर बनाएं : गहलोत

संजीवनी टुडे 04-12-2020 09:02:13

विशेष योग्यजनों की शारीरिक कमजोरी को उनकी ताकत बना उन्हें आत्मनिर्भर बनाएं


जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि समाज व परिवार की सोच वक्त के साथ दिव्यांगजनों के लिए बदलनी जरुरी है। उनकी शारीरिक कमजोरी को उनकी कमजोरी नहीं ताकत बनाकर उनकी आत्मनिर्भरता के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि सिलिकोसिस बीमारी ने प्रदेशवासियों के खूब अंगों को लील लिया है, इसके लिए सरकार अपना काम कर रही है, लेकिन खान मालिक व अन्य संबंधित संस्थाओं को चाहिए कि वे भी इस बीमारी से आम जीवन को बचाने के लिए प्रयास करें।

मुख्यमंत्री गुरुवार को सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग की ओर से आयोजित अंर्तराष्ट्रीय विशेष योग्यजन दिवस के मौके पर आयोजित वर्चुअल पुरुस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री गहलोत ने निदेशालय की ओर से तैयार किए गए कैलेण्डर का विमोचन किया। उन्होंने कहा कि 92 में संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से अंर्तराष्ट्रीय विशेष योग्यजन दिवस की शुरुआत करने के बाद पूरे विश्व का इस तरफ ध्यान गया। अब हमारे देश में भी समाज व परिवार की सोच में बदलाव आया है कि दिव्यांगजन बोझ नहीं है। 

उनका सम्मान सुनिश्चित हुआ है। अब उन्हें बोझ नहीं समझकर उनकी योग्यता व उनके हुनर को पहचाना जाने लगा है। उन्होंने कहा कि हमारी पिछली सरकार के समय हमने कॉकलियर प्लांट के लिए मुख्यमंत्री सहायता कोष से ऑपरेशन की शुरुआत की थी। अब तक हम 900 ऐसे ऑपरेशन करवा चुके हैं और इसके लिए 47 करोड़ रुपये से अधिक राशि खर्च कर चुके हैं। किसी बच्चे की पहचान दिव्यांग के नाम से नहीं, उसके खुद के नाम से हो, ऐसी सोच होनी चाहिए। सरकार अकेली कुछ नहीं कर सकती, जब तक समाज के लोग, एनजीओ, संस्थाएं मानवसेवा के लिए तत्पर नहीं हो। 

गहलोत ने कहा कि दिव्यांगजनों के लिए बहुत कुछ किया हैं, लेकिन अभी भी बहुत कुछ करना बाकी है। विकसित देशों में दिव्यांगजनों के लिए विशेष प्रावधान किए जाते हैं। हमारे मुल्क में भी हमने खासी उपलब्धियां हासिल की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी को लेकर पूरे प्रदेशवासियों को सावधानी रखने की जरुरत है। छुआछूत की बीमारी सदैव के लिए समाप्त होनी चाहिए। हम विज्ञान-तकनीक के जमाने में है। ऐसे में ऐसी बीमारियां समाज और राज्य के साथ देश को कमजोर कर रही है। मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने कहा कि राज्य सरकार विशेष योग्यजनों के हितार्थ संवेदनशील है और उनके लिए महत्वपूर्ण फैसले किए जा रहे हैं। निदेशालय की स्थापना, पेंशन, सरकारी दफ्तरों में रैम्प का निर्माण, मतदान के दौरान विशेष योग्यजनों के लिए विशेष प्रबंध इसी का नतीजा है। 

आर्य ने जिला कलक्टरों से अपने-अपने जिलों में विशेष योग्यजनों के लिए संचालित योजनाओं की मॉनिटरिंग करने का आह्वान किया। सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता विभाग के राज्यमंत्री राजेन्द्र यादव ने कहा कि विश्वभर में ऐसे बहुत से दिव्यांगजन हुए हैं, जिन्होंने अपनी शारीरिक कमजोरी के बावजूद अपने हुनर के दम पर अपनी बुद्धिमता का लोहा मनवाया है। सरकार की मंशा है कि प्रदेश में भी विशेष योग्यजनों को उनके हुनर, साहस, बुद्धिमत्ता का परिचय करवाया जाएं। 

कार्यक्रम में 57 व्यक्तियों व संस्थाओं को उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरुस्कृत किया गया। कार्यक्रम के लिए हर जिले से 10 दिव्यांगजनों को सहायक उपकरण के लिए चिह्नित किया गया। कार्यक्रम में सांकेतिक रूप से जयपुर संभाग के झुंझुनूं से चिढ़ावा की अनिताकुमारी, खेतड़ीनगर की सरलादेवी, उदयपुर संभाग के राजसमंद से किशोरसिंह, बीकानेर संभाग के हनुमानगढ़ से बलवंतसिंह, अजमेर संभाग के नागौर से अब्दुल हमीद व लालाराम, जोधपुर संभाग के बाड़मेर से जगदीशकुमार व रामचंद्र कड़वासरा, जोधपुर से निर्मला, पारसमल सैन, भरतपुर संभाग से नीलम गोयल को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में जयपुर कलक्टर अंतरसिंह नेहरा ने हेमंत, विशाल, लोकेश, प्रवीण व नीरज को स्मार्टफोन उपहार स्वरूप दिए। 

बीकानेर संभाग में चुरू से कालू मोहम्मद, उदयपुर संभाग में प्रतापगढ़ से देवलीकुमारी को सांकेतिक रूप से सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री गहलोत ने कार्यक्रम में उदयपुर की जिला कलक्टर को संभाग के प्रतापगढ़ से देवलीकुमारी के पिता को मुख्यमंत्री राहत कोष से 51 हजार रुपये प्रदान करने के निर्देश दिए।

राज्यमंत्री राजेन्द्र यादव ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। वीसी के जरिये जिलों के कलक्टर कार्यक्रम से जुड़े। कार्यक्रम में बताया गया कि नागौर, सिरोही व बांसवाड़ा में विशेष योग्यजनों के हितार्थ कई नवाचार हुए हैं, जिन्हें अब पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा। राज्य में निदेशालय की ओर से 5 लाख 61 हजार दिव्यांगजनों को पेंशन दी जा रही है।

यह खबर भी पढ़े: मास्क न पहनने वालों से Covid Center में सेवा करवाने के हाईकोर्ट के फैसले पर रोक

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From rajasthan

Trending Now
Recommended