संजीवनी टुडे

पश्चिमी विक्षोभ का असर: संभाग में कुछेक स्थानों पर बूंदाबांदी, बादल छंटने पर बढ़ेगी ठंड

संजीवनी टुडे 26-11-2020 07:59:07

पश्चिमी विक्षोभ का असर: संभाग में कुछेक स्थानों पर बूंदाबांदी, बादल छंटने पर बढ़ेगी ठंड


जोधपुर। उत्तर भारत के इलाकों में हो रही बर्फबारी और चैन्नई तमिलनाडू में बारिश के असर से राजस्थान में मौसम में परिवर्तन हो गया है। पश्चिमी विक्षोभ का असर बनने से यहां संभाग के कुछेक स्थानों पर बुधवार को बूंदाबांदी हुई। जोधपुर के आसमां पर बादलों का डेरा जमा है। बादल छंटने के साथ ही ठंड के बढऩे के आसार बने है। जोधपुर में आज दिन का तापमान 17.2 डिग्री बना रहा। धूप नहीं खिलने से लोगबाग परेशान रहे। हवा में सर्दी का पूर्ण अहसास बना है। 

 पश्चिमी विक्षोभ का ही प्रभाव रहा कि आज संभाग के लगभग सभी शहरों का न्यूनतम तापमान दो डिजिट में आ गया। जैसलमेर व उसके आस-पास के क्षेत्रों में देर रात हल्की बूंदाबांदी हुई। जोधपुर शहर व उसके आसपास के इलाकों सवेरे के समय थूजणी छुड़ा देने वाली ठंड पड़ी। बाद में सूरज की किरणें राहत ले कर आई। मगर बाद में बादल छा गए। जोधपुर का आज सवेरे न्यूनतम तापमान 17.2 डिग्री सेल्सियस रहा। संभाग में आज सवेरे सबसे कम तापमान माउंट आबू में दर्ज किया गया। माउंट आबू का तापमान 3 डिग्री सेल्सियस रहा। इसी तरह बाड़मेर 16.6, पाली 13, जैसलमेर 13.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, पश्चिमी विक्षोभ का ये प्रभाव केवल 25 नवंबर तक ही बना रहेगा। वहीं, 27 व 28 नवंबर से प्रदेश के अधिकांश क्षेत्र को शीतलहर का प्रकोप झेलना पड़ेगा। विभाग ने इन दोनों ही दिनों में उत्तरी भारत से आने वाली सर्द हवाओं के लिए येलो अलर्ट भी जारी किया है। 

सर्द मौसम से दिनचर्या में बदलवा:
बढ़ते सर्दी के मौसम में अब लोगों की दिनचर्या में पूरी तरह बदलाव आ गया है। जल्दी उठकर काम पर जाने वाले भी काफी देर तक घरों में ही दुबके रहते है। लोगों का खानपान भी बदल गया है। गर्म लबादे में लोगबाग नजर आते है। रात में सडक़ों पर सन्नाटा पसर जाता है। 

यह खबर भी पढ़े: प्रावधान निरस्त होने के बाद भी कैसे किया जा रहा है कर्मचारी को दंडित

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From rajasthan

Trending Now
Recommended