संजीवनी टुडे

छोटी काशी जयपुर को हैदराबाद नहीं बनने देंगे: वासुदेव देवनानी

संजीवनी टुडे 25-10-2020 21:13:41

छोटी काशी जयपुर को हैदराबाद नहीं बनने देंगे


जयपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं हैरिटेज नगर निगम चुनाव प्रभारी वासुदेव देवनानी ने कहा कि कांग्रेस जयपुर को हैदराबाद बनाना चाहती है, लेकिन भाजपा और जनता छोटी काशी जयपुर को हैदराबाद और यहां के कांग्रेसी विधायकों को असदुद्दीन ओवैसी नहीं बनने देंगी। देवनानी रविवार को भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज विजय दशमी अधर्म पर धर्म की जीत का दिन है। अधर्म का प्रतीक कांग्रेस ने निगम चुनाव में इस गुलाबी नगरी का विभाजन कर दो निगम बना अधर्म का काम किया है। विभाजन करना कांग्रेस का स्वाभाव रहा है। चुनाव में स्वार्थ पूर्ति के लिए उन्होंने जयपुर निगम का विभाजन किया है और इसी के चलते ही कांग्रेस ने गुलाबी नगरी में ऐसे तत्वों को बढावा दिया जिन्होंने गुलाबी नगरी में समाज को बांटने का काम किया। 

अभी कोरोना बीमारी में इन्होंने एक ही वर्ग के और कांग्रेस समर्थित लोगों की सूची बनाकर उन्हें ही राशन सामग्री का वितरण करने का काम किया। बाकी बहुत बडा समाज राशन सामग्री के लिए तरसता रहा। इस दौरान शुद्ध रूप से तुष्टीकरण की राजनीति की। पिछले साल अगस्त को धर्मयात्रा पर पत्थरबाजी करने वाले विधायको का समर्थन यहां के कांग्रेसी विधायक का मिला। कांग्रेस का जो जयपुर को हैदराबाद बनाने का जो लक्ष्य है उसे भाजपा और जयपुर की जनता पूरा नहीं होने देगी। 

देवनानी ने कहा कि यह चुनाव राष्ट्रवादी-अराष्ट्रवादी और धर्म-अधर्मियों के बीच का चुनाव है। जनता निश्चित रूप से जागरूक हो रही है। जिस प्रकार हमारा चुनाव प्रबंधन है और चुनाव प्रचार गति पकड रहा है उससे साफ है कि भाजपा हैरिटेज निगम में ‘मिशन-70’ और ग्रेटर निगम में ‘मिशन-110’ का लक्ष्य हासिल करेगी। इस चुनाव में जनता कांग्रेस को जयपुर से साफ कर दोनों निगमों में भाजपा का बोर्ड बनाएगी। 

देवनानी ने कहा कि कांग्रेस ने अपने पिछले पौने दो साल के कार्यकाल में जयपुर निगम को नरक निगम बना कर रख दिया है। शहर की पूरी सडकें जगह-जगह टूटी पडी है। सारी गलियां गंदगी से अटी पडी हैं। भाजपा निगम बोर्ड के समय रोज घर घर से कचरा संग्रहण होता था जो आज बंद हो गया है। शहर के कई इलाकों में सप्ताह में एक बार भी घरों से कचरा एकत्रित नहीं हो रहा है। एलईडी लगाने वाले ठेकेदारों को समय पर भुगतान नहीं हो रहा है। गलियां अंधेरे से अटी पडी है। आवारा पशु और पेयजल समस्या से लोग त्रस्त है जबकि सरकार मस्त है। शहर सहित पूरे राजस्थान की कोई भी महिला अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रही है। इन सबको देखते हुए इस बार चुनावों में जनता ने कांग्रेस को सबक सिखाने का पक्का मूंड बना लिया है।

यह खबर भी पढ़े: राजस्थान में स्‍कूल खोलने पर एक-दो दिन में हो सकता है फैसला

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From rajasthan

Trending Now
Recommended