संजीवनी टुडे

कृषि कानून विरोध : पूरी रात विधान सभा के फर्श पर गुजारेंगे पंजाब 'आप' विधायक

संजीवनी टुडे 20-10-2020 08:02:07

पूरी रात विधान सभा के फर्श पर गुजारेंगे पंजाब आप विधायक

चंडीगढ़। केंद्रीय कृषि कानूनों के अधिकाधिक विरोध का श्रेय लेने में पंजाब की राजनीतिक पार्टियों में दौड़ लगी हुई हैं। आज विधान सभा के विशेष सत्र के प्रथम दिन किसी पार्टी के विधायक ट्रैक्टर लेकर आए तो किसी पार्टी के विधायकों ने काले चोगे डालकर आए। सत्ताधारी कांग्रेस भी केंद्रीय कानूनों के विरुद्ध श्रेय लेने की दौड़ में है। इधर मुख्य विपक्षी पार्टी 'आप' ने सदन में पेश किये जाने वाले बिलों के न मिलने के विरोध में विधान सभा के फर्श पर रात काटने का निर्णय किया है।  
 
नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने पार्टी हेडक्वाटर से जारी बयान के द्वारा अमरिन्दर सिंह सरकार की ओर से अति महत्वपूर्ण और पंजाब के भविष्य के साथ जुड़े इस प्रभावित बिल सदन में पेश होने तक गुप्त रखने के पीछे बड़ी साजिश के आरोप लगाए। चीमा ने कहा कि अमरिन्दर सिंह एक बार फिर पानी के बारे में समझौते (पंजाब वाटर ट्रमीनेशन लॉ आफ एग्रीमेंट एक्ट-2004) की तर्ज पर पंजाब और पंजाब के किसानों के साथ फरेब करने की तैयारी में हैं।
 
 जैसे तत्कालीन मनमोहन सरकार के साथ मिलकर अमरिन्दर सिंह ने पानी रद्द करने वाले फर्जी एक्ट के साथ झूठी वाह-वाह तो कमा ली परंतु उस एक्ट का पंजाब को रत्ती भर भी लाभ नहीं हुआ और न ही वह एक्ट सुप्रीम कोर्ट तक टिक सका। चीमा ने कहा कि अमरिन्दर सिंह ने उसी तरह की साठगांठ अब मोदी सरकार के साथ करके उसी तर्ज पर यह बिल पेश कर रही है, जिससे अंत में यह बिल मोदी सरकार के हक में जाए। 
यही कारण है कि बिल के खरड़े की शब्दावली को बिल सदन की मेज पर रखे जाने तक गुप्त रखा जा रहा है जबकि चाहिए यह था कि इस बिल के खरड़े को पास करने से पहले विरोधी पक्ष के नुमाइंदों समेत किसान जत्थेबंदियों और अन्य खेती और कानूनी माहिरों को 15 दिन पहले भेजी जाती (जैसे कि विधान सभा की नियमावली कहती है) जिससे सभी अपनी अपनी राय देते और सिक्केबंद कानून बनता, जो हर चुनौती पर फतेह हासिल कर पंजाब और पंजाब के किसानों का भविष्य सुरक्षित करता।
 
इस मौके विधायक अमन अरोड़ा, प्रिंसीपल बुद्ध राम, कुलतार सिंह संधवां, प्रो. बलजिन्दर कौर, सरबजीत कौर माणूंके, रुपिन्दर कौर रूबी, मीत हेयर, जै सिंह रोड़ी, मनजीत सिंह बिलासपुर, कुलवंत सिंह पंडोरी, मास्टर बलदेव सिंह ने कहा कि जब तक बिल की कापी नहीं मिलेगी तब तक वह पंजाब विधान सभा के अंदर ही डटे रहेंगे। विधान सभा में डटे विधायकों के साथ रोपड़ से विधायक अमरजीत सिंह संधोआ भी शामिल थे।अमन अरोड़ा ने कहा कि यदि किसान रेल पटरियों पर रातें काट सकते हैं तो उनके हकों के लिए हम विधान सभा के अंदर रात काट कर अपना फर्ज निभाएंगे।

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From punjab

Trending Now
Recommended