संजीवनी टुडे

मुझे शिवराज से नहीं जनता का सर्टीफिकेट चाहिए- कमलनाथ

संजीवनी टुडे 07-05-2019 20:55:16


भोपाल। मध्य प्रदेश में किसानों की कर्जमाफी को लेकर शुरू हुआ सियासी ड्रामा थमने का नाम नहीं ले रहा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान पर कर्जमाफी को लेकर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए हमला बोला है। कहा कि कर्जमाफी के लिए उन्हें शिवराज से सर्टीफिकेट नहीं चाहती बल्कि जनता से चाहिए। 

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

कर्जमाफी को लेकर मप्र की सियासत में मचे हंगामे के बीच मंगलवार को कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल शिवराज सिंह चौहान के आवास पर कर्जमाफी के सबूत लेकर पहुंचा था। इसके बाद शिवराज सिंह चौहान ने पत्रकार वार्ता कर अपनी बात को फिर से दोहराते हुए राहुल गांधी और कमलनाथ पर किसानों के साथ धोखा देने का आरोप लगाया। इस मामले पर मंगलवार शाम को मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद सफाई देने के लिए मीडिया के सामने आए। 

मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह दुख की बात है कि प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज कर्जमाफी को लेकर सफेद झूठ परोस रहे हैंं। आज सुबह ही कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल शिवराज के पास 21 लाख किसानों की सूची लेकर पहुंचा था। हमने जिलेवार उन्हें ये लिस्ट सौंपी है। ये वह लिस्ट है, जिनका कर्जा माफ हो चुका है। यह सूची छिपी हुई सूची नहीं है। कृषि विभाग की वेबसाइट पर पूरी जानकारी डाली गई है। शायद शिवराज सिंह को पोर्टल खोलना नहीं आता।

सीएम कमलनाथ ने कहा कि वे आज चुनावी दौरे पर थे लेकिन शिवराज के झूठ के चलते उन्हें अपना दौरा छोड़कर अपनी बात रखने यहां आना पड़ा। शिवराज पर हमला बोलते हुए कमलनाथ ने कहा कि शिवराज मीडिया को राहुल गांधी का भाषण सुना रहे हैंं, उन्हें यह नहीं पता कि कोई जादू नहीं होता। पूर्व सीएम होने के नाते उन्हें अनुभव होना चाहिए कि इसकी कार्रवाई क्या होती है। 

उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह झूठ बोल रहे हैं। कर्जमाफी की असल हकीकत सामने लाने के लिए वह मीडिया के सामने मुखातिब हुए हैं। मैं देर से बोलता हूं, कम बोलता हूं, लेकिन झूठ नहीं बोलता हूं। मैंने 17 दिसंबर को शपथ लेने के बाद किसानों का कर्जा माफ करने का फैसला किया था और दो घंटे के भीतर ही इस फैसले से जुड़ी फाइल साइन कर दी थी। सीएम कमलनाथ ने कहा कि हमने फसल कर्ज माफी की घोषणा की थी लेकिन शिवराज किसी किसान के ट्रैैक्टर ट्राली के कर्ज माफी का उदाहरण दे रहे हैंं तो हमने तो कभी ट्रैैक्टर ट्राली का कर्जा माफ करने की बात नहीं कही। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

कमलनाथ ने कहा कि उन्हें उनके काम का सर्टीफिकेट शिवराज से नहीं बल्कि जनता से चाहिए। कमलनाथ ने कर्जमाफी को लेकर शिवराज द्वारा लगातार दी जा रही बयानबाजी पर कहा कि वे मुझे बजट के बारे में न समझाएंं मैंने उनसे ज्यादा बजट देखा है। कमलनाथ यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह किसान के बेटे बनते थे लेकिन उन्होंने किसानों के पेट पर लात और पीठ पर गोली मारी है। वेे कर्जमाफी के मामले में झूठ बोल रहे हैं।

More From politics

Trending Now
Recommended