संजीवनी टुडे

फोन टेपिंग को लेकर भड़के कांग्रेस विधायक, खुलकर जताई नाराजगी, केंद्र तक पहुंची बात

संजीवनी टुडे 10-08-2020 09:00:49

हाल ही में गहलोत खेमे के विधायकों के फोन टेपिंग की सूची सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कांग्रेस में हलचल मची हुई है।


जयपुर। राजस्थान में लगभग एक महीने से राजनीतिक खींचतान चल रही है। सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के रूप में कांग्रेस दो धड़ों में बंट गई है। अभी भी दोनों धड़े अपने-अपने विधायकों को सुरक्षित करने में लगे हैं। गहलोत अपने गुट के विधायकों को चार्टर्ड प्लेन से जयपुर से जैसलमेर ले गए। यहां पर सूर्यगढ़ नाम के एक शाही होटल में विधायकों को ठहराया गया है। लेकिन हाल ही में गहलोत खेमे के विधायकों के फोन टेपिंग की सूची सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कांग्रेस में हलचल मची हुई है। इस सूची में जिन विधायकों के नाम है, उन्होंने जमकर नाराजगी जताई है।

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे व चारों राष्ट्रीय सचिवों की मौजूदगी में इन विधायकों ने अपना विरोध दर्ज कराया और कहा कि वे खुलकर सीएम गहलोत के साथ है, फिर उनके फोन टेप कराना गलत है। उन्होंने अपनी नाराजगी पार्टी के संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल तक भी पहुंचाई। इन विधायकों ने जैसलमेर से जयपुर जाने तक की चेतावनी दे दी। हालांकि वेणुगोपाल व अविनाश पांडे द्वारा की गई काफी मान-मन्नोवल के बाद ये विधायक वहीं रूकने के लिए राजी हुए । 

Rajasthan Politics

सूत्रों के मुताबिक फोन टेपिंग का मामला कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी तक पहुंच गया है ।फोन टेप किए जाने वालों की सूची में शामिल विधायक जैसलमेर में गहलोत खेमे के हैं । लेकिन ये वही विधायक हैं जिन पर गहलोत समर्थकों को शक है कि ये पाला बदल कर सचिन पायलट खेमे में जा सकते हैं। फोन टेपिंग की सूची में विधायक बलजीत यादव, जाहिदा और रोहित बोहरा का नाम है। ये तीनों ही पायलट के संपर्क में रहे हैं। भले ही अब ये गहलोत खेमे में हैं।

हालांकि फोन टेपिंग को लेकर विधायकों की नाराजगी को देखते हुए पुलिस बार-बार सफाई दे रही है। पुलिस महानिदेशक भूपेंद्र यादव ने जैसलमेर के सूर्यगढ़ होटल में फोन टेपिंग की बात को नकारते हुए कहा कि यह आधारहीन बात है। उन्होंने साइबर पुलिस थाने में दर्ज मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए। 

Rajasthan Politics

पुलिस महानिदेशक ने जयपुर पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्त को तत्काल जांच पूरी करने के लिए कहा है। उल्लेखनीय है कि फोन टेपिंग मामले में यह आरोप लगे थे कि जयपुर के मानसरोवर में बैठकर पुलिस के उच्च अधिकारी प्राइवेट टेलिफोन कंपनियों के अफसरों के साथ मिलकर विधायकों के फोन टेप कर रहे हैं।

इसी बीच राष्ट्रीय नेताओं द्वारा की गई समझाने के बाद स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने मीडिया में एक बयान जारी कर कहा कि फोन टेपिंग की बात गलत है। यह अफवाह भाजपा ने फैलाई है। बता दें कि इस सूची में धारीवाल का भी नाम है। 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब बटन

 

यह खबर भी पढ़े: Rajasthan Politics Update/मुख्यमंत्री गहलोत ने विधायकों के नाम लिखा पत्र, कही ये बड़ी बात

यह खबर भी पढ़े: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत ने किया विधायकों का हौंसला बुलंद, कहा- जीत हमारी हो चुकी है, हम कोरोना की जंग भी जीतेंगे

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From politics

Trending Now
Recommended