संजीवनी टुडे

जनसंख्या कानून, CAA और राम मंदिर पर क्या बोले मोहन भागवत?

संजीवनी टुडे 17-01-2020 18:27:13

चार दिवसीय दौरे पर मुरादाबाद पहुंचे मोहन भागवत ने जिज्ञासा समाधान सत्र के दौरान कहा की संघ का मत है कि दो बच्चों का कानून होना चाहिए, लेकिन इस पर फैसला सरकार को लेना है।


नई दिल्ली। चार दिवसीय दौरे पर मुरादाबाद पहुंचे मोहन भागवत ने जिज्ञासा समाधान सत्र के दौरान कहा की संघ का मत है कि दो बच्चों का कानून होना चाहिए, लेकिन इस पर फैसला सरकार को लेना है। मोहन भागवत ने गुरुवार को कहा, राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट के बनते ही संघ अपने आपको इससे अलग कर लेगा। यही नहीं, काशी और मथुरा संघ के एजेंडे में नहीं है। संघ प्रमुख ने कहा कि जनसंख्या वृद्धि मुद्दे पर संघ का रुख हमेशा दो बच्चों के कानून के पक्ष में रहा हालांकि यह जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। 

यह खबर भी पढ़ें: Delhi election: बीजेपी ने किया 57 उम्मीदवारों का ऐलान; दावा- ये विजेताओं की टीम, दिल्ली में बनाएगी सरकार

सरकार को ऐसा कोई कानून बनाना चाहिए जिससे जनसंख्या नियंत्रण हो सके। नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के बाद उपजी स्थिति पर आए सवाल पर उन्होंने कहा कि यह कानून देश हित में है, लेकिन कुछ लोग विरोध कर रहे। धारा 370 हटाने के बाद देश में उत्साह और आत्मविश्वास बना। 

यह खबर भी पढ़ें: बड़ी खबर: चारों दुष्कर्मियों को 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी होगी, नया डेथ वारंट जारी

इसके बाद सीएए अस्तित्व में आया जिसका विरोध शुरू हुआ। इसके बारे में भृमित लोगों को वास्तविकता से रुबरु कराना चाहिए। यह सबका दायित्व बनता है। लोगों की भ्रांतियां दूर की जानी चाहिए। इा मामले में पीछे हटने का प्रश्न ही नहीं है। उन्होंने कहा कि चाहे अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून बिल लागू करने का, इन सभी पर संघ पूरी तरह सरकार के फैसले के साथ खड़ा है। बता दें इस कार्यक्रम में आरएसएस के क्षेत्रीय कार्यकारिणी के चुनिंदा 40 पदाधिकारी मौजूद थे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended