संजीवनी टुडे

कार्यस्थल पर उत्पीड़न से बचने के लिए महिलाओं के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम किया शुरू

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 09-10-2019 20:39:02

कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से बचने को लेकर महिलाओं के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया गया है।


नई दिल्ली। कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से बचने को लेकर महिलाओं के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया गया है। गैर सरकारी संगठन मार्थ फैरेल फाउंडेशन ने इससे संबंधित कानून को समझने में मदद के उद्देश्य से यह कार्यक्रम शुरू किया है। संगठन ने बुधवार को यहां जारी बयान में कहा कि सेक्सुअल हैरेसमेंट एट द वर्कप्लेस एक्ट - इट्स प्रीवेंशन एंड रिड्रेसल कार्यक्रम शुरू किया गया है। यह कार्यक्रम विशेष रूप से काम करने वाले पेशेवर के लिए तैयार किया गया है। एक घंटे का यह कार्यक्रम तीन मॉड्यूल में विभाजित है, जो कर्मचारियों, नियोक्ताओं और आंतरिक समिति के सदस्यों के लिए कार्यस्थल में महिलाओं के यौन उत्पीड़न से जुड़े कानून को समझने को सरल बनाता है।

यह खबर भी पढ़ें: ​एफडीआई नीति के उल्लंघन पर कार्रवाई करेगी सरकार: पीयूष

उसने कहा कि इसे एक व्यक्ति के व्यवहार की पहचान करने में मदद करने के लिए बनाया गया है जिसे अधिनियम में यौन उत्पीड़न के रूप में वर्णित किया गया है। संगठन की निदेशक नंदिता भट्ट ने कहा कि आज बड़ी संख्या में महिलाएं कार्यबल में प्रवेश कर रही हैं। कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न संस्थानों और उनकी आंतरिक प्रणालियों एवं नीतियों के संदर्भ में सर्वाधिक चर्चित मुद्दों में से एक है, जहां इसे भयभीत करने, जबरदस्ती करने और धमकाने वाले व्यवहार के रूप में वर्णित किया गया है। इनके अतिरिक्त इसमें अवांछित यौन व्यवहार भी शामिल है जिसे कार्यस्थल में महिलाओं के वशीकरण और भेदभाव के सबसे व्यापक और आक्रामक रूपों में से एक माना जाता है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended