संजीवनी टुडे

तटीय कर्नाटक में कैसिनो खोलने के प्रस्ताव पर पर्यटन मंत्री ने लिया यू-टर्न

संजीवनी टुडे 23-02-2020 15:28:43

तटीय कर्नाटक में कैसिनो को अनुमति देने के प्रस्ताव पर कड़ी आलोचना के पश्चात राज्य के पर्यटन मंत्री सीटी रवि ने यू-टर्न लेते हुए कैसिनो की अनुमति के प्रस्ताव होने से इनकार कर दिया।


बेंगलुरु। तटीय कर्नाटक में कैसिनो को अनुमति देने के प्रस्ताव पर कड़ी आलोचना के पश्चात राज्य के पर्यटन मंत्री सीटी रवि ने यू-टर्न लेते हुए कैसिनो की अनुमति के प्रस्ताव होने से इनकार कर दिया। रवि उडुपी में शनिवार की शाम कैसिनो के प्रस्ताव के बारे में पत्रकारों के सवालों के जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हाेंंने सिर्फ सिर्फ कैसिनो का उल्लेख करते हुये सिंगापुर और श्रीलंका के कैसिनो में भारतीय मूल के लोगों के बड़ी संख्या में होने का भी जिक्र किया था। 

उल्लेखनीय है कि मंत्री रवि ने राज्य के तटीय इलाकों में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कैसिनो को शुरू करने की बात कही थी। रवि के प्रस्ताव पर कांग्रेस ने कड़ी आलोचना की थी। साथ भाजपा में भी असंतोष के स्वर फूटने लगे थे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एचके पाटिल ने कहा था कि कैसिनो पर्यटन को बढ़ावा देने का तरीका नहीं है। यह कर्नाटक की संस्कृति के खिलाफ है। कांग्रेस के प्रवक्ता और पूर्व सांसद वीएस उग्रप्पा ने कहा कि राज्य में लोग समस्याओं से गुजर रहे हैं। इन समस्याओं को दूर करने के बजाय मंत्री कैसिनो को अनुमति का प्रस्ताव रख रहे हैं

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने शनिवार को इसका विरोध करते हुए कहा था कि कर्नाटक को जुआस्थली में बदलने की कोई जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि जुआ भारतीय संस्कृति के खिलाफ है। मैं राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अभिनव विचारों की सराहना करता हूं। पार्टी के एक मंत्री का कहना है कि यदि मंत्री पर्यटन में सुधार करना चाहते हैं तो वे पश्चिमी तट के किनारे समुद्र तटों में सुधार कर सकते हैं। हम्पी जैसे विश्वस्तरीय पर्यटन केंद्रों को बेहतर बनाने और पर्यटन स्थलों पर उचित बुनियादी ढांचा प्रदान कर सकते हैं। 

यह खबर भी पढ़ें:​ देवर रोज मिटाता रहे भूख इसलिए भाभी खाने में मिला देती थी अपना खून और...

यह खबर भी पढ़ें:​ बीमारी को ठीक करने का हवाला देते हुए मां-बेटी को कमरे में ले गया तांत्रिक और...

जयपुर में प्लॉट मात्र 289/- प्रति sq. Feet में  बुक करें 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended