संजीवनी टुडे

कर्नाटक में मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, नदियां उफान पर

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 11-08-2019 17:19:53

कर्नाटक के कम से कम 16 जिलों में मूसलाधार बारिश के बाद जलस्तर बढ़ने के बाद नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।


बेंगलुरु। कर्नाटक के कम से कम 16 जिलों में मूसलाधार बारिश के बाद जलस्तर बढ़ने के बाद नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।राज्य में रात दिन बचावकर्मी लोगों की सहायता में जुटे हुए है और केन्द्र सरकार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रभावित जिलों के सर्वेक्षण की जिम्मेदारी गृह मंत्री अमित शाह को दी है।

यह खबर भी पढ़े: सांसद रामस्वरूप शर्मा का जयराम से चंडीगढ़-भुंतर के बीच हवाई सेवा शुरू करने का आग्रह

शाह ने मुख्यमंत्री बी. एस येदियुरप्पा के साथ बेलगावी और बागलकोट जिलों का हवाई सर्वेक्षण किया और कहा कि केन्द्र सरकार कर्नाटक में आयी इस गंभीर प्राकृतिक आपदा के लिए अधिक से अधिक सहायता प्रदान करेगी। 

कर्नाटक में कम से कम 16 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं और लगातार मूसलाधार बारिश के कारण राज्य की लगभग सभी नदियां उफान पर हैं। राज्य के कम से कम 180 गांव बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है। बाढ़ के कारण 30 लोगों की मौत हो गयी है और 14 से अधिक लोग अभी भी लापता हैं।

यह खबर भी पढ़े: चीमा ने कांग्रेस कार्य समिति के फैसले का किया स्वागत

महाराष्ट्र में भारी बारिश के कारण कर्नाटक में कृष्णा नदी में पानी का बहाव तेज हो गया, जिससे बेलगावी, बागलकोट, विजयपुरा, कोप्पल, कलबुर्गी, रायचूर और कर्नाटक के अन्य जिले बाढ़ से प्रभावित हुआ है। कईं केंद्रीय नेता बाढ़ से प्रभावित लोगाें की स्थिति का जायजा लेने यहां पहुंचे हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित जिलों को दौरा किया और बाढ़ से प्रभावित प्रत्येक परिवार को तत्काल 3800 रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की। इस दौरान दक्षिण के कोडगु और मैसुरु जिलों में कावेरी नदी और उसकी सहायक नदियों के उफान से स्थिति विकराल बनी हुई है 

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कम से कम 14 गांवों के 120 परिवार के सदस्यों को गंगापुर गांव के पास सुरक्षित स्थान पर भेजा गया है। सारादागी, अवाराडा और हगरागुडी गांव भी जलमग्न हैं। देवल गंगापुर, मन्नूर, तेल्लूर, अवराडा, देसाई, कल्लूर, अफजलपुर तालु, एटागा, अरावल, जेवर्गी तालुक में निंबल और काडाबोर, काडा और चित्रापुर तालुक में कोबल में भीमा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। 

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended