संजीवनी टुडे

डेंगू से निजात दिलाएंगे ये कुछ घरेलू उपाय, आप भी पढ़िए

संजीवनी टुडे 18-10-2019 20:51:51

यह बीमारी बरसात के मौसम और जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलता है।


हेल्थ डेस्क। डेंगू बुख़ार एक संक्रमण है जो डेंगू वायरस के कारण होता है। डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं। ये मच्छर दिन में खासकर सुबह काटते हैं। यह बीमारी बरसात के मौसम और जुलाई से अक्टूबर में सबसे ज्यादा फैलता है।

मगर कई बार लोगों में डेंगू और चिकनगुनिया को लेकर भ्रम की स्थिति हो जाती है। अगर सही समय पर लक्षणों को पहचानकर इन बीमारियों का इलाज न शुरू किया जाए, तो दोनों ही बीमारियां खतरनाक साबित होती हैं। इसलिए इन बीमारियों से बचाव के लिए आपको डेंगू और चिकनगुनिया के बीच अंतर का पता होना जरूरी है। डेंगू का प्रकोप धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा हैं। आज तक कोई दवा नहीं मिली है जो संक्रमण को ठीक कर सकती है। 

यह खबर भी पढ़ें: महाराष्ट्र में 916 उम्मीदवारों की पृष्ठभूमि आपराधिक, 1007 करोड़पति

बुखार के कारण दर्द, सिरदर्द और असुविधा को दर्द निवारक और एंटीबायोटिक्स का उपभोग करके नियंत्रित किया जा सकता है। इबप्रोफेन और एस्पिरिन से बचा जाना चाहिए क्योंकि यह अनियंत्रित रक्तस्राव का कारण बन सकता है। डेंगू बुखार के लक्षणों का अनुभव किए जाने पर, जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। इसके अलावा आपको हम कुछ घरेलू उपाय बताएंगे जो आपको इस बीमारी से निजात दिलाने में कारगर साबित होगा।

अनार का सेवन करने से खून की कमी पूरी होगी जिससे डेंगू में होने वाली कमजोरी में फायदा मिलेगा। हल्दी का प्रयोग खाने में दाल वगैरहा में करने से डेंगू में फायदा मिलेगा। गिलोय का जूस डेंगू से बचने के लिए फायदेमंद है। इसके अलावा गिलोय और तुलसी का काढ़ा बनाकर पीने से डेंगू में फायदा मिलेगा। नारियल पानी का सेवन करने से डेंगू की बीमारी में आराम मिलता है। तुलसी के पत्तों को उबालकर इसका पानी पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होगा और डेंगू में फायदा मिलेगा। मेथी के पत्तों को उबालकर गुनगुना पीने से डेंगू में फायदा मिलेगा। 

डेंगू के लक्षण -
तेज बुखार,
मांस पेशियों एवं जोड़ों में भयंकर दर्द,
सर दर्द,
आखों के पीछे दर्द,
जी मिचलाना,
उल्टी
दस्त तथा
त्वचा पर लाल रंग के दाने
आपको बता दें की डेंगू बुख़ार को "हड्डीतोड़ बुख़ार" के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इससे पीड़ित लोगों को इतना अधिक दर्द हो सकता है कि जैसे उनकी हड्डियां टूट गयी हों।
मात्र 13.21 लाख में अपने ख़ुद के मकान का सपना करें साकार, सांगानेर जयपुर में बना हुआ मकान कॉल - 9314166166

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended