संजीवनी टुडे

VIDEO: पाक विदेश मंत्री के मुंह से निकली सच्चाई, कहा- जम्मू-कश्मीर है 'भारतीय राज्य'

संजीवनी टुडे 11-09-2019 11:17:12

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मंगलवार को कहा- जम्मू-कश्मीर है भारतीय राज्य


जेनेवा। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मंगलवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) को भारत से कश्मीर में लागू “कर्फ्यू” तत्काल हटाने तथा संचार व्यवस्था को बहाल करने के लिए अनुरोध करना चाहिए।

कुरैशी ने यहां यूएनएचआरसी के 42वें सत्र में अपने संबाेधन में कहा कि भारत से पैलेट गन के इस्तेमाल पर रोक लगाने, सभी नजरबंद नेताओं को रिहा करने तथा मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को “निशाना” नहीं बनाने के लिए भी कहा जाना चाहिए। पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने भारत पर जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों के हनन का आरोप लगाते हुए कहा कि उसे संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों और मानवाधिकार घोषणा पत्रों का पालन करना चाहिए।

यह खबर भी पढ़े: मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ‘द ग्रेट खली’ करवायेंगे कुश्ती प्रतियोगिता

उन्होंने परिषद से जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन की जांच एक आयोग गठित कर वहां भेजने की मांग की। उन्होंने कहा कि यदि भारत कुछ नहीं छुपाना चाहता है तो उसे आयोग को वहां जाने की अनुमति देनी चाहिए और पाकिस्तान नियंत्रण रेखा के अपनी ओर आयोग को ऐसी अनुमति देने के लिए तैयार है। भारत से यह भी कहा जाना चाहिए कि वह मानवाधिकार संगठनों तथा अंतरराष्ट्रीय मीडिया को जम्मू-कश्मीर में बेरोकटोक जाने की अनुमति दे। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लोगों को ‘आत्मनिर्णय का अधिकार’ देने की भी बात कही।

कुरैशी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के संदर्भ में भारत ने एकतरफा कदम उठाए जो अंतरराष्ट्रीय कानूनों के अनुरूप नहीं हैं। भारत का इन कदमों को अपना आंतरिक मामला बताना अनुचित है।

उन्होंने यहां कहा, “भारत दुनिया के सामने ऐसा दिखावा कर रहा है कि जम्मू एवं कश्मीर में जीवन सामान्य हो गया है। अगर वहां जन-जीवन सामान्य हो गया है तो फिर वह आपको (अंतरार्ष्ट्रीय मीडिया को) वहां क्यों नहीं जाने देते हैं। वे फिर क्यों नहीं अंतरार्ष्ट्रीय संगठनों, एनजीओ और सिविल सोसायटी संगठनों को भारतीय राज्य जम्मू एवं कश्मीर में जाने देते हैं और फिर उन्हें वहां की सच्चाई क्यों नहीं देखने देते हैं।”

उल्लेखनीय है कि भारत ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे से संबंधित अनुच्छेद 370 के अधिकांश प्रावधानों को निरस्त किया है और जम्मू-कष्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने का कानून बनाया है।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended