संजीवनी टुडे

संत रविदास मंदिर को तोड़ा जाना निंदनीय : अखिलेश

इनपुट- यूनीवार्ता

संजीवनी टुडे 25-08-2019 19:42:41

मंदिर को तोड़े जाने की घटना ने समाज के एक बड़े वर्ग की भावना को ठेस पहुंचाने का काम किया है।


लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि दिल्ली के तुगलकाबाद में संत रविदास मंदिर को तोड़े जाने की घटना ने समाज के एक बड़े वर्ग की भावना को ठेस पहुंचाने का काम किया है। यादव ने रविवार को कहा कि 16वीं शताब्दी के महान संत रविदास जी की स्मृति धरोहर के रूप में बने इस मंदिर से उनके अनुयायियों की श्रद्धा जुड़ी थी। इससे भाजपा सरकार का संत-महात्मा विरोधी चेहरा उजागर हुआ है।

यह खबर भी पढ़ें: चार राज्यों की एक-एक सीटों पर उपचुनाव की तिथियां घोषित, इस तिथि को होगा मतदान

भारतीय समाज में गुरूओं, संत-महात्माओं का सदैव आदर रहा है। उनके तमाम अनुयायियों के लिए उनका जीवन दर्शन हमेशा प्रासंगिक और अनुकरणीय रहा है। उनके विचारों से प्रेरणा लेने वाले भी कम नहीं। संतो-गुरूओं की स्मृति को चिरजीवी रखने तथा उनके माध्यम से समाज को प्रेरणा देने के लिए मंदिरों का निर्माण सदियों से होता रहा है।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

उन्होने कहा कि तुगलकाबाद में संत रविदास मंदिर तोड़े जाने से क्षुब्ध अनुयायियों पर पुलिस द्वारा बल प्रयोग अनुचित और निंदनीय है। उनके साथ अन्याय नहीं हों, इसके लिए सभी सत्याग्रहियों को तत्काल रिहा किया जाए एवं उन पर दर्ज मुकदमे वापस हों। सरकार को जनभावना का आदर करना चाहिए। दलित समाज के श्रद्धा स्थलों के प्रति दुर्भावनापूर्ण व्यवहार नहीं होना चाहिए।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

More From national

Trending Now
Recommended