संजीवनी टुडे

सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान सेना ने किया तेंदुए के मल-मूत्र का इस्तेमाल, कमांडर ने बताई ये वजह

संजीवनी टुडे 12-09-2018 17:13:38


नई दिल्‍ली। जम्‍मू-कश्‍मीर में उड़ी आतंकी हमले के बाद बदला लेने के लिए जब सेना ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पारकर पाकिस्‍तानी सीमा के भीतर 15 किमी घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। उससे जुड़ी एक दिलचस्प बात पुणे में सामने आई, जब उसमें योगदान के लिए पूर्व नगरोटा कॉर्प्स कमांडर ले. जनरल राजेंद्र निंबोरकर को सम्मानित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया। 

उन्होंने कहा की कुत्तों को शांत रखने के लिए तेंदुए के मल-मूत्र का इस्तेमाल किया गया। इस बात का भी ख्‍याल रखा कि रास्‍ते में पड़ने वाले गांवों से गुजरने के दौरान ये कुत्‍ते आहट पाते ही तेंदुए के खौफ से भौंक सकते हैं और हमला भी कर सकते हैं। ऐसे में उससे बचाव के लिए तेंदुए के मल-मूत्र का सहारा लिया गया उनको गांवों के निकट फेंक दिया गया। ये रणनीति कारगर रही और कुत्‍तों ने डर के मारे पास फटकने की हिम्‍मत नहीं दिखाई।''

सेना ने 29 आतंकियों को मार गिराया था 
आपको बता दे की ये सर्जिकल स्ट्राइक साल 2016 में हुई थी  सेना ने इस हमले में 29 आतंकियों को मार गिराया था और आतंकियों के लॉन्च पैड्स

 

2.40 लाख में प्लॉट जयपुर: 21000 डाउन पेमेन्ट शेष राशि 18 माह की आसान किस्तों में Call:09314166166

MUST WATCH & SUBSCRIBE

और ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। 

 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended