संजीवनी टुडे

सुप्रीम कोर्ट का फैसला संविधान के खिलाफः केजरीवाल

संजीवनी टुडे 14-02-2019 17:03:39


नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच चल रहे विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के सुनाए फैसले को संविधान के खिलाफ बताया है। यह बात अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर कही।

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

अरविंद केजरीवाल ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाए फैसले पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि अगर दिल्ली में कोई भ्रष्टाचार करता है, तो उन्हें उस पर कार्रवाई करने के लिए भाजपा के पास जाना पड़ेगा। सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला संविधान और लोगों की अपेक्षाओं के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि हमें अनशन करके दिल्ली के अधिकारों की लड़ाई लड़नी पड़ रही है। इंसाफ के लिए भाजपा के पास जाना पड़ रहा है।

केजरीवाल ने कहा कि हमारी कैबिनेट ने उपराज्यपाल के घर में बैठकर 10 दिन तक अनशन किया, फिर भी कोई फैसला नहीं हुआ। एक चपरासी को भी दिल्ली का मुख्यमंत्री ट्रांसफर नहीं कर सकता। मुख्यमंत्री के पास अगर एक चपरासी को ट्रांसफर करने तक की ताकत नहीं है तो मुख्यमंत्री कैसे काम करेगा? दिल्ली का विकास कैसे होगा? अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि हम कोर्ट की इज्जत करते हैं लेकिन ये फैसला दिल्ली वालों के साथ अन्याय है।

गठबंधन के लिए कांग्रेस ने किया मना
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस के साथ गठबंघन को लेकर बड़ बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे मन में देश को लेकर चिंता है उसी वजह से हम लालायित हैं। हालांकि उन्होंने(कांग्रेस) लगभग मना कर दिया है। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2019 में नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी को हराना बहुत जरूरी है। केजरीवाल ने कहा कि भाजपा के खिलाफ पार्टियों को वोट न बंटे और इसका फायदा भाजपा को न मिले, इसके लिए विपक्षी पारको सोचना होगा। जिस क्षेत्र में जो पार्टी मजबूत है उसे भाजपा के खिलाफ लड़ाई लड़नी चाहिए। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से अपील करते हुए कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में वह दिल्ली की सभी सात सीट पर आम आदमी पार्टी को वोट दें ताकि हम संसद में दबाव बना सकें और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिला सकें। 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended