संजीवनी टुडे

दिल्ली दंगा मामले में पिंजरा तोड़ देवांगन कलीता की जमानत रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

संजीवनी टुडे 28-10-2020 15:30:02

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली दंगा मामले में पिंजरा तोड़ देवांगन कलीता की जमानत रद्द करने से मना कर दिया है। दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दिल्ली पुलिस की अपील सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है।


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली दंगा मामले में पिंजरा तोड़ देवांगन कलीता की जमानत रद्द करने से मना कर दिया है। दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ दिल्ली पुलिस की अपील सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर आरोपित ज़मानत की शर्तों का उल्लंघन करे, तब आप उसे रद्द करने की मांग कर सकते हैं।

पिछले 1 सितम्बर को दिल्ली हाईकोर्ट ने देवांगन कलीता को जमानत दी थी। जस्टिस सुरेश कैत की बेंच ने देवांगन कलीता को 25 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत देने का आदेश दिया।

हाईकोर्ट ने कलीता को सीधे या परोक्ष रूप से गवाहों को प्रभावित करने या साक्ष्यों से छेड़छाड़ नहीं करने का निर्देश दिया। कोर्ट ने कलीता को ट्रायल कोर्ट की अनुमति के बिना देश छोड़कर जाने पर रोक लगाई है। कलीता पर आरोप है कि उसने पिछले 22 फरवरी को जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास सड़क जाम करने के लिए लोगों को उकसाया था। उल्लेखनीय है कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों में 53 लोग मारे गए थे और करीब दो सौ लोग घायल हो गए थे।

यह खबर भी पढ़े: Nikita Tomar Murder Case: निकिता के मामा का चौंकाने वाला खुलासा, आरोपी की मां ने रखा था यह प्रस्ताव

यह खबर भी पढ़े: अब घर से काम करने में नहीं होगी कोई परेशानी, गूगल करेगा एंड्रॉइड-12 में यह विशेष परिवर्तन

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended