संजीवनी टुडे

अति प्रदूषित क्षेत्रों के प्रदूषणकारी उद्योगों को 3 माह में बंद करें: एनजीटी

संजीवनी टुडे 16-07-2019 21:35:31

नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिया है।


नई दिल्ली। नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (एनजीटी) ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिया है कि वो अति प्रदूषित इलाकों से तीन महीने के अंदर प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को बंद करें। एनजीटी चेयरपर्सन जस्टिस आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली बेंच ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिया कि वो राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों के समन्वय से प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों से पिछले पांच साल के दौरान फैलाए गए प्रदूषण के लिए जुर्माना वसूले।

 एनजीटी ने ये आदेश केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों के द्वारा संयुक्त रुप से किए गए अध्ययन की रिपोर्ट देखने पर दिया। इस रिपोर्ट में प्रदूषित इलाकों का वर्गीकरण किया गया है। एनजीटी ने कहा कि रेड और ऑरेंज कैटेगरी के औद्योगिक इलाकों में कोई औद्योगिक गतिविधि या विस्तार तब तक नहीं किया जाए, जब तक कि वो तय इलाका प्रदूषण के तय मानदंड के तहत न आ जाए। एनजीटी ने कहा कि व्हाईट और ग्रीन या प्रदूषण नहीं फैलाने वाले उद्योगों पर यह आदेश लागू नहीं होगा।

एनजीटी ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिया कि वो विशेषज्ञों की मदद से प्रदूषित इलाकों में वायु और जल प्रदूषण से संबंधित सूचना एकत्र करे और उसे सार्वजनिक पटल पर नोटिफाई करे। एनजीटी ने वन और पर्यावरण मंत्रालय को निर्देश दिया कि वो स्थिति को सुधारने के लिए एक्शन प्लान को लागू करने के लिए कदम उठाए। एनजीटी ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को निर्देश दिया कि वह तीन महीने के बाद उसके आदेशों की अनुपालन रिपोर्ट दाखिल करे। मामले की अगली सुनवाई 5 नवंबर को होगी।

गोवर्मेन्ट एप्रूव्ड प्लाट व फार्महाउस मात्र रु. 2600/- वर्गगज, टोंक रोड (NH-12) जयपुर में 9314166166

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें

More From national

Trending Now
Recommended