संजीवनी टुडे

सीतारमण और जयशंकर ने तमिलनाडु पर हिन्दी थोपने की आशंका को बताया निराधार

संजीवनी टुडे 02-06-2019 18:50:38

दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य से जुड़ाव रखने वाले दो केंद्रीय मंत्रियों वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री डॉ एस. जयशंकर ने राज्य की जनता को भरोसा दिलाया है कि लोगों पर किसी भाषा को थोपा नही जाएगा


नई दिल्ली। दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य से जुड़ाव रखने वाले दो केंद्रीय मंत्रियों वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश मंत्री डॉ एस. जयशंकर ने राज्य की जनता को भरोसा दिलाया है कि लोगों पर किसी भाषा को थोपा नही जाएगा।

इन दोनों मंत्रियों ने तमिल भाषा में ट्विटर पर अपने संदेश में कहा कि सरकार को अभी केवल नई शिक्षा नीति के बारे में मसौदा रिपोर्ट मिली है। इस मसौदे पर लोगों की राय ली जाएगी। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार सभी भारतीय भाषाओं के विकास में विश्वास करती है तथा उसका इरादा किसी पर किसी भाषा को थोपना नही है।

सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ और महान भारत-भारती की भावना के अनुरुप सभी भारतीय भाषाओं के विकास के लिए कृतसंकल्प हैं। सरकार प्राचीन तमिल भाषा के विकास का भी भरपूर प्रयास करेगी।

प्लीज सब्सक्राइब यूट्यूब चैनल

 

 उल्लेखनीय है कि नई शिक्षा नीति के मसौदे में त्रिभाषा फार्मूले की वकालत की गई है जिसके तहत अंग्रेजी, हिन्दी और भारतीय भाषाओं की पढ़ाई का प्रावधान है। तमिलनाडु में विभिन्न राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों और कार्यकर्ताओं ने  इस सुझाव को तमिलनाडु पर हिन्दी भाषा थोपने का आरोप लगाया है। विवाद के छिड़ने के बाद केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने भी तमिलनाडु के लोगों की आशंका को निर्मूल बताया।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314188188

More From national

Trending Now
Recommended