संजीवनी टुडे

शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा, महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार करेगी अपना कार्यकाल पूरा

संजीवनी टुडे 29-09-2020 18:00:54

शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी।


मुंबई। शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा कि महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। महाविकास आघाड़ी सरकार के सहयोगी दलों में किसी तरह का मतभेद नहीं है। तीनों दलों में बेहतर तालमेल है। साथ ही वह अखिल भारतीय कांग्रेस नेता राहुल गांधी व केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का निकट भविष्य में साक्षात्कार करने वाले हैं। 

संजय राऊत ने मंगलवार को मुंबई में पत्रकारों को बताया कि उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ उनका साक्षात्कार लेने के लिए शनिवार को एक होटल में मुलाकात की थी। इसके बाद जो राजनीतिक माहौल तैयार करने का प्रयास किया गया, वह गलत है। भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने मध्यावधि चुनाव तक की बात की जबकि राज्य की जनता मध्यावधि चुनाव नहीं चाहती। इसलिए उद्धव ठाकरे सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी। राऊत ने कहा कि बालासाहेब ठाकरे चाहते थे कि विपक्ष के साथ बातचीत जारी रहनी चाहिए। चर्चा से ही किसी भी विषय का रास्ता निकलता है। इन्हीं विचारों की वजह से शिवसेना सभी नेताओं से चर्चा जारी रखना चाहती है। इसी कड़ी में वह राहुल गांधी व अमित शाह से भी साक्षात्कार के लिए समय मांगा है। राऊत ने कहा कि वह सभी नेताओं का साक्षात्कार अनएडिटेड ही शिवसेना के मुखपत्र में प्रकाशित करेंगे। अगर इन नेताओं ने कोई भी आरोप लगाया तो उसका जवाब भी मुखपत्र में दिया जाएगा।

राऊत ने कहा कि कंगना राऊत के मामले में हाईकोर्ट ने उनका जवाब मांगा है, वह जवाब देने से पीछे नहीं हटेंगे। साथ ही बिहार विधानसभा में शिवसेना चुनाव लड़ने का विचार कर रही है। इससे पहले भी शिवसेना महाराष्ट्र के बाहर चुनाव लड़ती रही है। बिहार में शिवसेना के चुनाव मैदान में उतरने से किसे तकलीफ होगी, यह सभी जानते हैं। राऊत ने कहा कि बिहार में वर्तमान सरकार ने विकास का कोई काम नहीं किया। अब चुनाव में उन्हें मुद्दों की जरूरत पड़ रही है। इसी वजह से भाजपा ने सुशांत सिंह राजपूत मौत प्रकरण को मुद्दा बनाने का राजनीतिक प्रयास किया। इस मामले में एक शिवसेना नेता को भी घसीटने का प्रयास किया गया। मामले की जांच देश की तीन उच्च स्तरीय संस्थान कर रहे हैं लेकिन अभी तक कुछ हासिल नहीं हो सका है। साथ ही बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे से शिवसेना का व्यक्तिगत विरोध नहीं है। गुप्तेश्वर पांडे से पहले भी कई अधिकारी राजनीति में आ चुके हैं लेकिन गुप्तेश्वर ने अपनी राजनीति के लिए महाराष्ट्र को बदनाम किया सिर्फ इसी वजह से शिवसेना ने गुप्तेश्वर का विरोध किया था।

यह खबर भी पढ़े: डूंगरपुर उपद्रव : भाजपा ने दो वरिष्ठ अधिकारियों पर लगाया आरोप

यह खबर भी पढ़े: पीएम मोदी के बयान पर सिब्बल का कटाक्ष, पूछा- क्या अकाली दल भी किसानों के खिलाफ ?

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended