संजीवनी टुडे

एसडीएफ 28 फरवरी के बंद को हिंसात्मक बनाना चाहती है: एसकेएम

संजीवनी टुडे 23-02-2019 22:35:21


गंगटोक। राज्य के प्रमुख विपक्षी दल सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा(एसकेएम) ने सत्तारूढ़ सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट(एसडीएफ) पार्टी पर 28 फरवरी के दिन प्रस्तावित सिक्किम बंद को हिंसात्मक बनाने के लिए षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है। एसकेएम प्रवक्ता जेकब खालिंग ने शनिवार को राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह आरोप लगाया। प्रवक्ता खालिंग ने कहा कि एसकेएम पार्टी ने गत चार फरवरी के दिन राज्य सरकार के समक्ष 35 मांगे पेश करते हुए उक्त मांगों को 25 फरवरी तक पूरा करने का अल्टीमेटम दिया है। 

जयपुर में प्लॉट मात्र 2.30 लाख में Call On: 09314188188

यदि एसडीएफ सरकार ने उक्त मांगे पूरा नहीं किया तो 28 फरवरी के दिन सिक्किम बंद करने का निर्णय लिया है। सत्तारूढ़ पार्टी उक्त बंद को हिंसात्मक बनाने की तैयारी में है और इसका आरोप एसकेएम पार्टी पर थोपना चाहती है। उन्होंने जानकारी दी कि एसडीएफ पार्टी 27-28 फरवरी तथा 01 मार्च को राज्यव्यापी रूप में मोटर रैली आयोजन करने जा रही है। प्रवक्ता खालिंग ने कहा कि जब एसकेएम पार्टी 28 फरवरी के दिन सिक्किम बंद करने की घोषणा कर चुकी है तो प्रशासन ने कैसे एसडीएफ पार्टी को कार रैली आयोजन करने की अनुमति दी। उन्होंने कहा कि एसडीएफ सरकार लोगों को उनके प्रजातांत्रिक और मौलिक अधिकार को प्रयोग करने से वंचित करना चाहती है। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव ने एक परिपत्र जारी करते हुए कहा कि बंद आयोजन करना असंवैधानिक है। 

MUST WATCH & SUBSCRIBE

प्रवक्ता खालिंग ने सर्वोच्च न्यायालय का एक आदेश पढ़कर सुनाया, जिसमें न्यायालय ने हड़ताल को असंवैधानिक ठहर करने से साफ इंकार किया है। एसकेएम पार्टी के बंद को असफल और हिंसात्मक बनाने के लिए उन्होंने एसडीएफ पार्टी पर नेपाल से माओवादी लेकर आने का गंभीर आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि एसडीएफ के कार रैली में पार्टी कार्यकर्ता नहीं बल्कि माओवादी सवार होंगे और एसकेएम ​के बंद समर्थकों का खून बहाने का काम करेंगे। इस हिंसा के लिए ​एसकेएम को ही जिम्मेदार ठहराने की योजना सरकार ने बनाया है।

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended