संजीवनी टुडे

राहत की खबर/ भारत में क्लिनिकल ट्रायल पर है 3 कोरोना वैक्सीन, SII जल्द शुरू करेगी तीसरे चरण का ट्रायल

संजीवनी टुडे 16-09-2020 07:47:21

आईसीएमआर की तरफ से यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जब एक दिन पहले सीरम इंस्टीट्यूट की तरफ से यह कहा गया कि हर किसी के लिए 2024 से पहले वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो पाएगी।


नई दिल्ली। कोरोना वैक्सीन का बेताबी से इंतजार किया जा रहा है। लेकिन, इसको लेकर आ रहे अलग-अलग बयानों और दावों के चलते लोगों में कंफ्यूजन बढ़ता जा रहा है। ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के डीजी प्रोफेसर बलराम भार्गव ने कहा कि भारत में 3 वैक्सीन का अभी क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है और इसमें से एक को जल्द ही मंजूरी मिलने के बाद तीसरे चरण का ट्रायल शुरू हो जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ब्रीफिंग के दौरान आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा- कैडिला हेल्थकेयर और भारत बोयोटेक की तरफ से तैयार की जा रही कोविड-19 ने ट्रायल का पहला चरण पूरा कर लिया है जबकि मंजूरी मिलने के बाद सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) तीसरे चरण का ट्रायल शुरू करेगी। 

Corona Virus research

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और आईसीएमआर की कोरोना वैक्सीन को तैयार करने में साझेदारी पर बोलते हुए चौबे ने कहा- पहली वैक्सीन ChAdOx1-S ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका की तरफ से विकसित गैर-प्रतिकृति वायरल वेक्टर वैक्सीन (non-replicating viral vector vaccine) है। 

आईसीएमआर की तरफ से 2/3 चरण का ट्रायल 14 क्लिनिकल ट्रायल साइट पर चल रहा है। आईसीएमआर- नेशनल इंस्टीट्यट ऑफ रिसर्च इन ट्यूबरक्यूलोसिस, चेन्नई इसकी अगुवाई कर रहा है। कैंडिला और भारत बायोटेक ने फेज वन का ट्रायल पूरा कर लिया है। सीरम इंस्टीट्यूट फेज टू-बीथ्री ट्रायल पूरा कर चुकी है और क्लियरेंस के बाद फेज थ्री का ट्रायल (14 जगहों के 1500 मरीज के साथ) शुरू करेगी। 

Corona Virus research

आईसीएमआर की तरफ से यह बयान ऐसे वक्त पर आया है जब एक दिन पहले सीरम इंस्टीट्यूट की तरफ से यह कहा गया कि हर किसी के लिए 2024 से पहले वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो पाएगी। फाइनेंशियल टाइम्स से सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा था- इस धरती पर हर किसी को वैक्सीन मिलने में चार से पांच साल लग जाएंगे।

इससे पहले, दिन में स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने लोकसभा में बताया था किया बायोटेक और कैडिला हेल्थकेयर का दूसरे चरण का ट्रायल जारी है। उन्होंने यह भी बताया कि रूस की तरफ से तैयार की गई वैक्सीन पर भी सहयोग को लेकर चर्चा जारी है।हालांकि, औपचारिक स्टडीज की शुरुआत नहीं की गई है।

यह खबर भी पढ़े: चीन के साथ शांति की सारी वार्ताएं बेकार, LAC पर लगातार कर रहा है भारतीय सेना को उकसाने वाला काम

यह खबर भी पढ़े: केंद्र सरकार की परियोजना से लगभग 76.30 लाख मानव दिवसों का रोजगार भी होगा सृजित

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended