संजीवनी टुडे

कोरोना से जंग हार गए राज्यसभा सांसद अहमद पटेल, 71 वर्ष की उम्र में निधन, राहुल गाँधी ने कहा- दुखद दिन है, वह एक जबरदस्त संपत्ति थे...

संजीवनी टुडे 25-11-2020 08:28:00

अहमद पटेल के निधन की जानकारी मिलने के बाद अलग-अलग दलों के नेता अहमद पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।


नई दिल्ली। कोरोना संक्रमित होने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का 71 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। अहमद पटेल लंबे समय से बीमार चल रहे थे। एक महीने पहले उन्हें कोरोना हो गया था जिसके बाद उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। अहमद पटेल के निधन की जानकारी मिलने के बाद अलग-अलग दलों के नेता अहमद पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमद पटेल के निधन पर ट्वीट किया है और उनके बेटे फैजल पटेल से फोन पर बात की है। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा है, ''अहमद पटेल जी के निधन से दुखी हूं। उन्होंने सार्वजनिक जीवन में कई साल समाज की सेवा में बिताए। अपने तेज दिमाग के लिए जाने जाने वाले अहमद पटेल को कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने में उनकी भूमिका हमेशा याद की जाएगी। उनके बेटे फैजल से बात की है और संवेदना व्यक्त की। अहमद भाई की आत्मा को शांति मिले।''

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा है, ''यह एक दुखद दिन है. अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के एक स्तंभ थे। वह अपने सबसे कठिन समय में पार्टी के साथ खड़े रहे। वह एक जबरदस्त संपत्ति थे। हम उन्हें हमेशा याद करेंगे। फैजल, मुमताज और परिवार को मेरा प्यार और संवेदना।''

वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लिखती हैं, 'अहमद जी न केवल एक बुद्धिमान और अनुभवी सहकर्मी थे, जिनसे मैंने लगातार सलाह ली। वे ऐसे दोस्त भी थे जो हम सभी के साथ दृढ़ता से, ईमानदारीपूर्वक, अंत तक खड़े रहे। उनकी आत्मा को शांति मिले।'

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अहमद पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की है। दिग्विजय सिंह लिखते हैं, 'अहमद पटेल नहीं रहे। एक अभिन्न मित्र विश्वसनीय साथी चला गया। हम दोनों वर्ष 1977 से साथ रहे। वे लोकसभा में पहुंचे और मैं विधानसभा में। हम सभी कांग्रेसियों के लिए वे हर राजनीतिक मर्ज की दवा थे। मृदुभाषी, व्यवहार कुशल और सदैव मुस्कुराते रहना उनकी पहचान थी।'

दिग्विजय सिंह आगे लिखते हैं, 'कोई भी कितना ही गुस्सा होकर जाए उनमें यह क्षमता थी कि वे उसे संतुष्ट कर ही भेजते थे। मीडिया से दूर, पर कांग्रेस के हर फैसले में शामिल। कड़वी बात भी बेहद मीठे शब्दों में कहना उनसे सीख सकता था। कांग्रेस पार्टी उनका योगदान कभी भी नहीं भुला सकती। अहमद भाई अमर रहें। अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए दिग्विजय सिंह लिखते हैं, 'अहमद भाई बहुत ही धार्मिक व्यक्ति थे और कहीं पर भी रहें नमाज पढ़ने से कभी नहीं चूकते थे। आज देव उठनी एकादशी भी है, जिसका सनातन धर्म में बहुत महत्व है। अल्लाह उन्हें जन्नतउल फ़िरदौस में आला मकाम अता फरमाएं। आमीन'

बता दें कि  कुछ दिन पहले उन्हे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल ने ट्वीट कर ये जानकारी दी और लोगों से अपील की है कि कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें, सोशल डिस्टेंसिंग रखें और भीड़ जमा ना करें। अहमद पटेल तीन बार लोकसभा सांसद और चार बार राज्यसभा सांसद रह चुके थे। 2001 से वो सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार के तौर पर काम कर रहे थे। 

यह खबर भी पढ़े: 25 नवंबर, आज का पवित्र लेख

 

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended