संजीवनी टुडे

राज्य सभा की कार्यवाही कल सुबह तक स्थगित, सभापति ने विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव किया खारिज

संजीवनी टुडे 21-09-2020 14:21:40

राज्यसभा में सोमवार को सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद अभद्र व्यवहार को लेकर निलंबित किये गए विपक्ष के आठ सांसद सदन से बाहर जाने को तैयार नहीं हुए।


नई दिल्ली। राज्यसभा में सोमवार को सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद अभद्र व्यवहार को लेकर निलंबित किये गए विपक्ष के आठ सांसद सदन से बाहर जाने को तैयार नहीं हुए। सदन की कार्यवाही कई बार स्थगित की गई और फिर कल सुबह तक के लिए स्थगित कर दिया गया। इस दौरान राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने उप सभापति के खिलाफ विपक्ष द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को भी खारिज कर दिया।

दरअसल, सोमवार को बीते दिन कृषि विधेयकों के पारित होने के दौरान सदन में उप सभापति हरिवंश के साथ दुर्व्यवहार करने के आरोप में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (आप) और माकपा के आठ सदस्यों को मानसून सत्र की बाकी अवधि के लिए सदन से निलंबित किया गया। संसद के उच्च सदन की कार्यवाही शुरू होते ही निलंबित सांसद टीएमसी के डेरेक ओ’ब्रायन और डोला सेन, आप के संजय सिंह, कांग्रेस नेता राजीव सातव, रिपुन बोरा और सैयद नासिर हुसैन व माकपा के केके रागेश और एलाराम को सदन से बाहर जाने को कहा गया। इसके बावजूद सभी सदस्य सदन में डटे रहे और निलम्बन की कार्रवाई के खिलाफ नारेबाजी और हंगामा करने लगे। 

इसके बाद नौ बजकर चालीस मिनट पर सदन की कार्यवाही दस बजे के लिए स्थगित कर दी गई। दोबारा सदन की कार्यवाही शुरू होने पर भी निलंबित सदस्य सदन में मौजूद रहे जिस कारण फिर बैठक स्थगित करनी पड़ी। इसके बावजूद सदन में हंगामा जारी रहा और निलंबित सदस्य सदन से बाहर नहीं गए जिस कारण बैठक 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। स्थगन के बाद जब सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो पीठासीन अधिकारी भुवनेश्वर कलिता ने कहा कि निलंबित सदस्य सदन से बाहर चले जाएं ताकि सदन की कार्यवाही आगे बढ़ाई जा सके। इस पर विपक्षी दल कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, आप के सदस्य आसन के पास आकर नारेबाजी करने लगे। विपक्ष के सदन के निर्देश नहीं मानने और सदन की कार्यवाही लगातार बाधित होते देख सभापति एम. वेंकैया नायडू ने सदन को कल तक के लिए स्थगित कर दिया।

कृषि संबंधी विधेयकों पर विपक्ष की नाराजगी को लेकर रविवार को राज्यसभा में चर्चा के दौरान काफी हंगामाँ हुआ था। बिल का विरोध करते हुए विपक्षी सांसदों ने वेल के पास इकट्ठा होकर नारेबाजी की। इस दौरान टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने उप सभापति से रूल बुक छीनने की कोशिश भी की, जिससे उप सभापति के टेबल का माइक टूट गया। नाराज डेरेक ओ ब्रायन ने उप सभापति के सामने रूल बुक फाड़ दी जिसके बाद आज उन पर निलंबन की कार्रवाई हुई। आप सांसद संजय सिंह ने अपनी मेज का माइक तोड़ दिया था।

यह खबर भी पढ़े: SSR Case: ड्रग्स कनेक्शन में सारा-रकुल और श्रद्धा से भी होगी पूछताछ, NCB भेजेगी समन

यह खबर भी पढ़े: भारत के कब्जे से अब सिर्फ एक कदम दूर है ब्लैक टॉप और हेलमेट टॉप, अब तक 6 चोटियों पर किया कब्जा

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended