संजीवनी टुडे

राहुल ने कहा- विफल हो गया लॉकडाउन का उद्देश्य, मोदी जी का लक्ष्य पूरा नहीं हुआ

संजीवनी टुडे 26-05-2020 14:41:14

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि भारत एकमात्र ऐसा देश है कि जहां वायरस तेजी से बढ़ रहा है और हम लॉकडाउन को हटा रहे हैं।


नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि भारत एकमात्र ऐसा देश है कि जहां वायरस तेजी से बढ़ रहा है और हम लॉकडाउन को हटा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बिना योजना के लाए गए लॉकडाउन का उद्देश्य विफल हो गया है। नतीजतन भारत एक असफल लॉकडाउन के परिणामों का सामना कर रहा है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि 21 दिनों में कोरोना की लड़ाई जीती जाएगी लेकिन करीब साठ दिन बीत गए हैं और कोरोना अब भी लोगों को प्रभावित किए हुए है। उन्होंने कहा कि दुनिया के बाकी देशों ने लॉकडाउन तब हटाया जब बीमारी कम होनी शुरू हुई लेकिन हिंदुस्तान पहला देश है जो बीमारी के बढ़ते वक्त लॉकडाउन बंद कर रहा है। ऐसे में सरकार और प्रधानमंत्री बताएं कि अब वायरस संक्रमण को रोकने को लेकर उनका प्लान-बी क्या है? क्योंकि अब ये स्पष्ट है कि हमारे यहां लॉकडाउन विफल हो गया है। जो लक्ष्य मोदी जी का था, वो पूरा नहीं हुआ। ऐसे में प्रधानमंत्री जी को बताना चाहिए कि उनकी अगली रणनीति क्या है और लॉकडाउन से कैसे निपटोगे? इस विकट परिस्थिति में सरकार मजदूर भाई-बहनों, छोटे दुकानदारों-व्यापारियों व एमएसएमई की मदद कैसे करेगी? उन्होंने कहा कि आज जो सवाल यहां उठाए जा रहे हैं वह राजनीतिक नहीं है बल्कि ये आम जनता की चिंता है और मेरी भी, जिनके जवाब सरकार को देने होंगे। 

वहीं बेरोजगारी के मुद्दे पर केंद्र को घेरते हुए राहुल गांधी ने कहा कि यह समस्‍या कोरोना की वजह से नहीं आई है। यह पहले से चली आ रही थी। हालांकि लॉकडाउन के कारण पूरी समस्या में एक और बिंदु जुड़ गया है, जो कारोबार के बंद होने का है। वर्तमान में कई कारोबार व मझोले उद्योग बंद हो गए हैं और कई बंद होने की कगार पर हैं। ऐसे में जरूरी है कि सरकार इन छोटे उद्योगों को बचाने के लिए आर्थिक मदद का हाथ बढ़ाए, अगर ऐसा नहीं होता है तो ये देश की अर्थव्यवस्था के लिए आत्मघाती होगा। वहीं नकदी समस्या को लेकर राहुल ने पूछा कि 60 दिनों की तालाबंदी के बाद भी संक्रमण रुका नहीं है तो अब प्रधानमंत्री की क्या रणनीति है। क्या अब भी लोगों के खातों में डायरेक्ट कैश ट्रांसफर के विकल्प पर सरकार विचार नहीं करेगी।

इस दौरान कांग्रेस शासित राज्यों में संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में राहुल ने कहा कि जिस राज्य में कांग्रेस पार्टी डिसिजन मेकिंग स्थिति में है वहां हालात साफ दिखते हैं कि कितना बेहतर काम हुआ है। इसके लिए पंजाब, छत्तीसगढ़ और राजस्थान का उदाहरण लिया जा सकता है। महाराष्ट्र को लेकर उन्होंने कहा कि वहां कांग्रेस की गठबंधन सरकार है। वह देश का सबसे ज्‍यादा प्रभावित राज्‍य है और 50 हजार से ज्यादा मामले हैं। वहां समस्या निर्णय या रणनीति की नहीं है। राहुल ने कहा कि 'वेल-कनेक्‍टेड’ जगहों पर कोरोना ज्‍यादा फैल रहा है। महाराष्‍ट्र में सरकार की मदद की जा रही है लेकिन फैसले पूरी तरह से हमारे हाथ में नहीं हैं। सरकार चलाने और सरकार का समर्थन देने में फर्क होता है। महाराष्‍ट्र खासकर मुंबई अपनी कनेक्टिविटी के नेचर की वजह से संघर्ष कर रहा है, वहां केंद्र सरकार के पूरे समर्थन की जरूरत है।

यह खबर भी पढ़े: बिहार में मैट्रिक रिजल्ट जारी, टॉपर हुए हिमांशु राज

ऐसी ही ताजा खबरों व अपडेट के लिए डाउनलोड करे संजीवनी टुडे एप

More From national

Trending Now
Recommended