संजीवनी टुडे

सुप्रीम कोर्ट के अवमानना नोटिस के बाद राहुल गांधी मांगे देश से माफी : भाजपा

संजीवनी टुडे 15-04-2019 19:30:03


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को अवमानना नोटिस जारी किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से ‘चौकीदार चोर है’ कथन के लिए देश से माफी मांगने की मांग की है। भाजपा ने कहा कि गांधी-नेहरू परिवार को समझना चाहिए कि वंशवादी कुनबा भी सुप्रीम कोर्ट के अधीनस्थ ही है।केन्द्रीय वित्तमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने राफेल सौदे के संबंध में सुप्रीम कोर्ट के आदेश को राजनीतिक प्रचार के लिए अपनी तरह से लिखने की कोशिश की। यह राजनीति में नई गिरावट है।

मात्र 240000/- में टोंक रोड जयपुर में प्लॉट 9314166166

भाजपा नेता ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र किसी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अपने मन मुताबिक लिखने की अनुमति नहीं देता। वंशवादी कुनबे को समझना चाहिए कि वह भी सुप्रीम कोर्ट के मातहत है।भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को सार्वजनिक विचार विमर्श की प्राथमिक भाषा सीखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की राजनीति में जितनी गिरावट आएगी, भाजपा उतना ही ऊपर उठेगी। दूसरी ओर भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस का आज पर्दाफाश हो गया है। कांग्रेस अध्यक्ष को तो उनके झूठ के लिए 22 अप्रैल तक सुप्रीम कोर्ट में सफाई देनी है लेकिन उससे पहले राहुल को देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। 

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि राहुल की रणनीति हर दिन केवल झूठ बोलने की होती है। उनके सलाहकारों ने शाें यह नहीं समझाया कि झूठ को यदि हर दिन दोहराएं तो भी वह सच नहीं हो पाएगा। राहुल हर रोज राफेल युद्धक विमान सौदे पर नया झूठ बोल रहे हैं। जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस नेतृत्व की मनमोहन सरकार में उनकी सरकार के दौरान हर दिन घोटाले हुए, कभी 2जी घोटाला, कभी कोयला घोटला, कभी जीजा जी घोटाला हुआ। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन काल में अंतरिक्ष से लेकर पाताल तक घोटाला हुआ लेकिन मोदी सरकार में पांच साल में कोई घोटाला नहीं हुआ है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष केवल प्रधानमंत्री की छवि धूमिल करने का षड्यंत्र रचते हैं लेकिन जनता को मोदी पर भरोसा है इसलिए राहुल के आरोपों का प्रभाव नहीं पड़ता।

MUST WATCH & SUBSCRIBE

उल्लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नए दस्तावेजों के आधार पर राफेल डील पर पुनर्विचार याचिका स्वीकार किए जाने को 'चौकीदार चोर है' के रूप में पेश करने की वजह से राहुल को नोटिस जारी किया गया है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने कहा कि कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं की है। कोर्ट ने भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की याचिका पर विचार करते हुए राहुल गांधी को नोटिस देकर 22 अप्रैल तक स्पष्टीकरण देने को कहा है। इस मामले की 23 अप्रैल को सुनवाई होगी। कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी ने न्यायालय का नाम लेकर राफेल सौदे के बारे में मीडिया और जनता में जो कुछ कहा उसे गलत तरीके से पेश किया। 

More From national

Loading...
Trending Now
Recommended